धरने पर डटी रही आशा वर्कर

धरने पर डटी रही आशा वर्कर

फाइल फोटो

करनाल, 22 सितंबर (हप्र)

आशा वर्कर यूनियन का धरना सीएमओ कार्यालय के सामने 46वें दिन भी जारी रहा। इस दौरान धरने को सम्बोधित करते हुए सीटू नेता जगपाल राणा व ओपी माटा ने कहा कि पिछले 46 दिनों से आशा वर्कर्स संघर्ष कर रही हैं,मगर सरकार की ओर से इनकी कोई भी सुनने वाला नहीं है। आशा वर्करों की मांगों को लटकाकर इनके आंदोलन की अनदेखी की जा रही है। मुख्यमंत्री ठीक होकर राजनैतिक गतिविधियों में भी सक्रिय हो चुके हैं। उन्हें आशाओं से बातचीत करनी चाहिए। यदि सरकार का यही रवैया रहा तो 29 सितंबर को प्रदेश की आशा वर्कर्स मुख्यमंत्री के निवास पर प्रदर्शन करेंगी। इस अवसर पर आशा वर्कर यूनियन जिला प्रधान सुदेश रानी, सुमन, लक्ष्मी, रेखा, राजरानी, अनीता नीरू,लाजवन्ती, सविता व मोनिका आदि मौजूद रहे।

आश्वासन के बाद भी समाधान नहीं

कैथल (हप्र): आशा वर्करों का आंदोलन आज 47वें दिन में पहुंच गया। आज धरने की अध्यक्षता ब्लॉक प्रधान सुमन और मंच का संचालन रामदेई सिरटा ने किया। धरने पर सुमन ने कहा कि सरकार की मंशा आंदोलन को लंबा खींचवाकर कमजोर करने की है जिसमें सरकार को सफल नहीं होने देंगे। उन्होंने कहा कि 26 अगस्त को मुख्यमंत्री के ओएसडी कृष्ण बेदी ने आश्वासन दिया था, लेकिन आज 27 दिन बीत गए, सरकार की तरफ से कोई जवाब नहीं आया है। इससे सभी आशा वर्करों में भारी रोष है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और उसके द्वंद्व

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और उसके द्वंद्व

भाषा की कसौटी पर न हो संवेदना की परख

भाषा की कसौटी पर न हो संवेदना की परख