स्कूलों के बाद अब कॉलेजों और यूनिवर्सिटी में लौटेगी रौनक

स्कूलों के बाद अब कॉलेजों और यूनिवर्सिटी में लौटेगी रौनक

चंडीगढ़, 23 सितंबर (ट्रिन्यू)

हरियाणा के स्कूलों के बाद अब कॉलेजों एवं विश्वविद्यालयों में भी रौनक लौटेगी। हायर एजुकेशन डिपार्टमेंट ने विद्यार्थियों के लिए रेगुलर क्लास शुरू करने की प्लानिंग कर ली है। सभी कॉलेजों के प्राचार्यों एवं यूनिवर्सिटी के कुलपतियों को इस संदर्भ में हिदायतें जारी की गई हैं। विद्यार्थियों को रोटेशन आधार पर बुलाया जाएगा। साथ ही, अलग-अलग शिफ्ट भी होंगी, जिससे कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। केंद्रीय गृह मंत्रालय के निर्देशों के तहत उच्चतर शिक्षा विभाग ने यह गाइडलाइंस जारी की है। 25 सितंबर तक सभी कॉलेजों एवं विश्वविद्यालयों को तैयारियों का ब्योरा मुख्यालय को भेजना होगा। 26 सितंबर से कॉलेजों एवं यूनिवर्सिटी में ट्रायल रन शुरू होगा। ट्रायल रन के दौरान विद्यार्थी कॉलेज एवं यूनिवर्सिटी में जा सकेंगे। बीए प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों के लिए सोमवार व मंगलवार को क्लास लगेंगी। बीए प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों को सुबह 9 से 12 बजे तक बुलाया जाएगा। इसी तरह से बीकॉम व बीएससी प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों को भी सोमवार व मंगलवार को ही दोपहर साढ़े 12 बजे से साढ़े 3 बजे तक बुलाया जाएगा। बुधवार व वीरवार को बीए द्वितीय वर्ष के विद्यार्थियों को सुबह 9 से 12 बजे तक तथा बीकॉम व बीएससी द्वितीय वर्ष के विद्यार्थियों को दोपहर साढ़े 12 बजे से साढ़े 3 बजे तक बुलाया जाएगा। बीएड के विद्यार्थी बुधवार व बृहस्पतिवार को सुबह 9 से 12 बजे तक आ सकेंगे।

बीए अंतिम वर्ष और पीजी यानी स्नातक करने वाले प्रथम वर्ष के विद्यार्थी शुक्रवार व शनिवार को सुबह 9 से 12 बजे तक कॉलेज व यूनिवर्सिटी आ सकेंगे। बीकॉम व बीएससी फाइनइ ईयर और पीजी अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों को शुक्रवार व शनिवार को दोपहर साढ़े 12 बजे से साढ़े 3 बजे तक कॉलेज व यूनिवर्सिटी में बुलाया जाएगा। उच्चतर शिक्षा विभाग के महानिदेशक अजीत बालाजी जोशी इस मुद्दे पर कॉलेज प्राचार्यों के साथ नियमित रूप से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बैठकें भी कर रहे हैं।

नयी शिक्षा नीति अब एक ही दिन पंचायतों से चर्चा करेंगे शिक्षक

चंडीगढ़, 23 सितंबर। हरियाणा में राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 लागू करने को लेकर सरकार अब सभी ग्राम पंचायतों से चर्चा करेगी। पहले इसका पूरा शेड्यूल जारी किया गया था, लेकिन अब सरकार ने एक ही दिन 25 सितंबर को पंचायत प्रतिनिधियों से विचार-विमर्श करने का फैसला लिया है। इसके लिए शिक्षा निदेशालय की ओर से सभी जिला शिक्षा व मौलिक शिक्षा अधिकारियों को पत्र भेजकर हिदायतें दी गई हैं। इसमें शुक्रवार को स्कूल में ही संबंधित ग्राम पंचायत के प्रतिनिधियों तथा विद्यालय प्रबंधन समिति के सदस्यों के साथ सुबह 11 से एक बजे तक बैठक का शेड्यूल तय किया गया है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

शहर

View All