प्रधानमंत्री को भेजे 3 हजार पत्र

प्रधानमंत्री को भेजे 3 हजार पत्र

करनाल में बुधवार को सरकार विरोधी प्रदर्शन करते किसान। -हप्र

करनाल, 16 सितंबर (हप्र)

भारतीय किसान यूनियन द्वारा ‘एक किसान एक खत’ नाम से शुरू की गई मुहिम के तहत आज मुख्य डाकघर से प्रधानमंत्री को तीन हजार पत्र पोस्ट किए गए। किसान नेताओं ने बताया कि केन्द्र सरकार द्वारा लाए गए अध्यादेशों के विरोध में इस तरह से इस मुहिम के तहत प्रधानमंत्री को सितंबर माह में प्रदेश से एक लाख एक हजार कार्ड पोस्ट करने का ऐलान किया गया है। इससे पूर्व सैकड़ों किसानों ने जिला अध्यक्ष यशपाल राणा की अगुवाई में शहर की सड़कों पर उतर कर प्रर्दशन किया। भाकियू प्रदेशाध्यक्ष रतनमान ने कहा कि किसान को फसल खरीद व भुगतान की गांरटी मिलनी चाहिए। आज ये ही किसान की सर्वोत्तम मांग है।

इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष सुरेंद्र सिंह घुम्मन, प्रदेश संगठन सचिव डा. श्याम सिंह मान, जिलाध्यक्ष यशपाल राणा, जिला महासचिव सतपाल बड़थल, महिला प्रधान नीलम राणा सहित कई किसान मौजूद थे।

5 को होगा आरपार का हिसाब

प्रदेशाध्यक्ष रतनमान ने कहा कि किसान विरोधी भाजपा सरकार के खिलाफ आने वाली 5 अक्तूबर को हिसार के कस्बा बरवाला में किसान अधिकार महापंचायत को आयोजन किया जाएगा। इसमें निर्णायक कदम उठाया जाएगा।

बिजली मंत्री का आवास घेरा

सिरसा (निस) : अध्यादेश वापस लेने और खराब फसलों की मांग को लेकर जिला में किसान संगठनों ने अखिल भारतीय स्वामीनाथन संघर्ष समिति के बैनर तले लघु सचिवालय में पिछले 10 दिनों से धरनारत किसानों ने आज बिजली मंत्री रणजीत सिंह के घर का घेराव कर अल्टीमेटम दिया। उन्होंने कहा कि अगर 29 सितंबर तक किसानों की मांगों को पूरा नहीं किया गया तो किसान 145 गांवों की पानी की टंकियों पर चढ़ेंगे और तब तक नहीं उतरेंगे जब तक उनकी मांगें नहीं मानी जाती।

‘अध्यादेशों से किसानों को मिलेगी आर्थिक मजबूती’

रादौर (निस) : प्रदेश के पूर्व राज्यमंत्री कर्णदेव कांबोज ने कहा कि भाजपा सरकार 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लक्ष्य को पूरा करने के उद्देश्य से तीन अध्यादेश को लागू कर रही है। तीन अध्यादेश के लागू होने से कृषि काे लाभकारी बनाया जा सकेगा। पूर्व मंत्री कांबोज बुधवार को कांबोज धर्मशाला मे पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि तीन अध्यादेश बिल पास होने से किसानों को आर्थिक मजबूती मिलेगी। इस अवसर पर पूर्व विधायक ईश्वर सिंह पलाका, राजकुमार बुबका, भाजपा के मंडल प्रधान हैप्पी खेड़ी, हरपाल मारूपुर, विनोद सिंगला, डा. ऋषि पाल सैनी भी उपस्थित थे।

कलायत में प्रदर्शन

कलायत (निस) : सरकार द्वारा जारी किए गए अध्यादेश के विरोध में आढ़तियों, मुनीम व मजदूरों ने पीपली रैली को लेकर अग्रवाल धर्मशाला कलायत में प्रधान सुनील गर्ग की अध्यक्षता मैं बैठक हुई। अध्यादेश वापस न लेने तथा मंडी आढ़तियों के लस्टर लोस व वीट कटिंग के नाम पर काटे गए पैसे वापस न किए जाने पर 18 सितंबर से अनिश्चित काल हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया।

कई अन्य संगठनों का समर्थन

पानीपत (एस) : पानीपत में विभिन्न किसान संगठनों ने कृषि से संबंधित तीनों अध्यादेशों व पिपली रैली में किसानों पर किये गये लाठीचार्ज के विरोध में लघु सचिवालय के सामने जीटी रोड पुल के नीचे लगातार दूसरे दिन बुधवार को भी धरना दिया। धरने की अध्यक्षता अन्नदाता किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष सुरेश दहिया और भाकियू के पूर्व जिला उपप्रधान बिंटू मलिक ने की। धरने में पानीपत अनाज मंडी आढ़ती एसोसिएशन के जिला प्रधान धर्मबीर मलिक, मतलौडा अनाज मंडी के प्रधान विजय छाबड़ा, किसान कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव सुरेंद्र दहिया, इनेलो व्यापार प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष रणबीर देशवाल ने भी पहुंचकर अपना समर्थन दिया।

‘मुकदमे वापस हों’

बाबैन (निस) : हलका लाडवा के विधायक मेवा सिंह ने कहा कि सरकार के इशारे पर प्रशासन द्वारा किसानोंं,आढ़तियों एवं मजदूरों को अपना रोष प्रदर्शन करने से रोकना उनके संवैधानिक अधिकार का सरेआम हनन है और लोकतंत्र की सरेआम हत्या है, जिसकी जितनी भी निंदा की जाए उतनी थोड़ी है। मेवा सिंह ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट‍्टर व उप- मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला से मांग की कि वे किसानों से मांफी मांगें और जो बेकसूर किसानों पर प्रशासन ने झूठे मुकदमे बनाये हैं उन्हें तुरंत वापस लें अन्यथा कांग्रेस हर जिले के मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन करेगी।

संघर्ष समिति ने शुरू किया धरना

फतेहाबाद (निस) : चंडीगढ़-सिरसा स्टेट हाईवे 2 पर गांव ढाणी गोपाल चोपटा पर बुधवार को किसान संघर्ष समिति ने 4 दिवसीय धरना शुरू कर दिया है। संचालन समिति के जिला प्रधान ओमप्रकाश मंडा ने किया। धरने में आसपास के दर्जनों किसानों ने सरकार एवं प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की।

उचाना/जींद (हप्र): कपास मंडी में किसानों, आढ़तियों, मजदूरों ने केंद्र सरकार के 3 अध्यादेशों के खिलाफ धरना दिया। धरने की अध्यक्षता करते हुए आजाद पालवां ने कहा कि अपने हक की लड़ाई को लेकर अगर जान भी जाए तो पीछे नहीं हटेंगे।

यमुनानगर में बुधवार को उपायुक्त कार्यालय के सामने धरने पर बैठे किसान। - हप्र

‘दुष्यंत चौटाला अगर किसानों के साथ हैं तो सरकार से समर्थन वापस लें’

यमुनानगर (हप्र) : ऑल हरियाणा रोडवेज वर्कर्स यूनियन की तरफ से राज्य प्रधान हरिनारायण शर्मा भारतीय किसान यूनियन को समर्थन देने के लिए कर्मचारियों के साथ उपायुक्त कार्यालय के सामने चल रहे किसान यूनियन के धरने में शामिल हुए। वहीं, साढौरा के पूर्व विधायक राजपाल भूखड़ी भी धरना स्थल पर पहुचे। किसानों को संबोधित करते हुए शर्मा ने किसानों पर हुई लाठीचार्ज की कड़े शब्दों में निंदा की और तीनों अध्यादेशों का विरोध किया। उन्होंने कहा कि सरकार को समर्थन दे रहे दुष्यंत चौटाला अगर किसानों के साथ खड़े हैं तो सरकार से अपना समर्थन वापस लें और किसानों पर जो तीन अध्यादेश लागू हो रहे हैं उनको रद्द करवाने में किसानों का साथ दें। आज राजिंन्द्र कांबोज डिपो प्रधान, रणजीत सैनी उप प्रधान, रघुवीर सिंह पंजाबी उप प्रधान, सचिव धर्मेंद्र कादियान व धर्म सिंह आदि भी प्रर्दशन में शामिल हुए।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

किसानों की आशंकाओं का समाधान जरूरी

किसानों की आशंकाओं का समाधान जरूरी

शहर

View All