नड्डा और जयराम ने की एम्स के निर्माण कार्य की समीक्षा

नड्डा और जयराम ने की एम्स के निर्माण कार्य की समीक्षा

बिलासपुर में शनिवार को एम्स के निर्माण कार्य का निरीक्षण करते जगत प्रकाश नड्डा और जयराम ठाकुर।

शिमला, 21 नवंबर (निस)

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा और मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज बिलासपुर जिला के कोठीपुरा में एम्स के निर्माण कार्य का निरीक्षण किया और समीक्षा की। पीजीआईएमइआर चण्डीगढ़ के निदेशक और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों तथा निर्माण कम्पनी के प्रतिनिधियों के साथ बैठक के दौरान जगत प्रकाश नड्डा ने कहा कि इस संस्थान के निर्माण कार्य की गुणवत्ता के साथ कोई भी समझौता नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस संस्थान में हिमाचल प्रदेश के लोगों को विशेषज्ञ स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध होंगी।उन्होंने सन्तोष व्यक्त किया कि कोविड-19 संकट के बावजूद एम्स का निर्माण कार्य सुचारू रूप से चल रहा है और दिसम्बर, 2021 तक इसका कार्य पूर्ण होने की संभावना है। उन्होंने संस्थान में इस वर्ष के दिसम्बर माह तक एमबीबीएस की कक्षाएं आरम्भ करने के लिए प्रयास करने पर बल दिया।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार एम्स से संबंधित सभी मुद्दों का समाधान करने के लिए प्रतिबद्ध है और जलापूर्ति तथा विद्युत से संबंधित आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए त्वरित सहायता प्रदान की जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार इस संस्थान के बिजली के बिल पर छूट प्रदान करने के मामले पर विचार करेगी। जगत प्रकाश और जयराम ने एम्स के निर्माणाधीन विभिन्न खण्डों का निरीक्षण किया और निर्माण कार्य से संबंधित जरूरी दिशा-निर्देश दिए।

जनसभा को किया संबोधित

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बिलासपुर में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा ने न केवल बिहार विधानसभा चुनाव और कई अन्य राज्यों में उपचुनाव जीते हैं बल्कि अब कश्मीर से कच्छ और बिहार से मणिपुर तक कमल पूरी तरह खिल चुका है। नड्डा ने कहा कि कार्यकर्ताओं के तप के बल पर ही वह आज भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के मुकाम तक पहुंच पाए हैं। जयराम ठाकुर सहित अन्य नेताओं ने भी इस मौके पर जनसभा को संबोधित किया।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

महामारी को अवसर बनाने की करतूतें

महामारी को अवसर बनाने की करतूतें

खोये बच्चे की मां की खुशी ही प्रेरणा

खोये बच्चे की मां की खुशी ही प्रेरणा

कोर्ट की सख्ती के बाद खाली होंगे आवास

कोर्ट की सख्ती के बाद खाली होंगे आवास

संदेह के खात्मे से विश्वास की शुरुआत

संदेह के खात्मे से विश्वास की शुरुआत