हिमाचल अधिकांश स्थानों पर वर्षा से हल्की राहत

हिमाचल अधिकांश स्थानों पर वर्षा से हल्की राहत

मंगलवार की रात को आयी आंधी और बारिश ने किसान की उम्मीदों और मेहनत पर पानी फेर दिया। तेज हवाओं और बारिश के चलते गेहूं की फसल जमीन पर बिछ गयी। -अश्विनी धीमान

शिमला, 7 अप्रैल (निस)

हिमाचल प्रदेश में बीती रात राज्य के अधिकांश स्थानों पर हल्की से दरम्यानी वर्षा हुई जबकि अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में इस दौरान हिमपात हुआ। राज्य के निचले इलाकों में हुई इस बारिश से प्रदेशवासियों को हल्की राहत मिली है। हालांकि ये बारिश प्रदेश में संभावित सूखे की स्थिति को रोकने के लिए नाकाफी है। मौसम विभाग के आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटों के दौरान लाहौल स्पिति के गोंदला में 30, हंसा में 25, पूह में 18, कल्पा में 15 और कोठी में 2 सेंटीमीटर ताजा बर्फबारी दर्ज की गई। लगातार तीसरे दिन हुई इस बर्फबारी से लोगों को एक बार फिर कड़ाके की ठंड का सामना करना पड़ रहा है। केलांग में आज न्यूनतम तापमान -0.5, कल्पा में 0.1, मनाली में 5.4 और कुफरी में 6.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इस दौरान कोठी में सर्वाधिक 64 मिलीमीटर, मनाली में 40 रिकांगपिओ में 36, वांगतू में 32, पालमपुर में 30, कसोल में 29, रोहडू में 25, कोटखाई में 22 और बैजनाथ में 21 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई। अन्य स्थानों पर भी इस दौरान वर्षा हुई। इस ताजा वर्षा और बर्फबारी से तापमान में जोरदार गिरावट आई है। आज प्रदेश में अधिकतम तापमान सामान्य से 5 डिग्री कम जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से 2 डिग्री कम दर्ज किया गया।

इस बीच जनजातीय क्षेत्रों में हो रही ताजा बर्फबारी से मनाली-लेह सड़क आज तीसरे दिन भी बंद रही और पर्यटकों को आज भी अटल टनल को पार नहीं करने दिया गया। ताजा वर्षा और बर्फबारी से लाहौल घाटी में अधिकांश सड़कें बंद हो गई हैं और बिजली आपूर्ति व संचार सेवाएं भी प्रभावित हुई हैं। इस बीच आज भी राज्य के चंबा जिला में वर्षा हुई जबकि ऊंची चोटियों पर हल्का हिमपात हुआ।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

राजनेताओं की जवाबदेही का सवाल

राजनेताओं की जवाबदेही का सवाल

तेल से अर्जित रकम का कीजिए सदुपयोग

तेल से अर्जित रकम का कीजिए सदुपयोग

ताऊ और तीसरी धारा की राजनीति

ताऊ और तीसरी धारा की राजनीति

अभिमान से मुक्त होना ही सच्चा ज्ञान

अभिमान से मुक्त होना ही सच्चा ज्ञान

फलक पर स्थापित ‘थलाइवा’ को फाल्के

फलक पर स्थापित ‘थलाइवा’ को फाल्के

नंदीग्राम रणभूमि के नये सारथी शुभेंदु

नंदीग्राम रणभूमि के नये सारथी शुभेंदु

राजनीति से अहद-ए-वफा चाहते हो!

राजनीति से अहद-ए-वफा चाहते हो!