कंगना ने की किसानों की तुलना की ‘आतंकियों’ से, विरोध में अमृतसर में किसानों ने फूंके अभिनेत्री के पुतले!

प्रदर्शन में कांग्रेस, एनएसयूआई भी शामिल, कुछ देर बाद ही कंगना ने भी दिया जवाब

कंगना ने की किसानों की तुलना की ‘आतंकियों’ से, विरोध में अमृतसर में किसानों ने फूंके अभिनेत्री के पुतले!

सूत्र-कंगना इंस्टाग्राम/पंजाब कांग्रेस ट्वीटर

ट्रिब्यून वेब डेस्क
चंडीगढ़, 23 सितंबर

 अभिनेत्री कंगना रनौत द्वारा कृषि बिलों का विरोध कर रहे किसानों की तुलना आतंकवादियों से करने के बाद किसानों का गुस्सा फूट पड़ा है। किसानों ने आज अमृतसर में कंगना के विरुद्ध रोक प्रदर्शन किया और उसके पुतले फूंके। उल्लेखनीय है कि कंगना ने रविवार को ट‍्वीट में आंदोलनरत किसानों की तुलना उन ‘आतंकियों’ से की थी जो सीएए का विरोध कर रहे थे।’ उन्होंने इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को री ट‍‍्वीट करते हुए कहा था-प्रधानमंत्री जी कोई सो रहा हो उसे जगाया जा सकता है, जिसे ग़लतफ़हमी हो उसे समझाया जा सकता है मगर जो सोने की एक्टिंग करे, नासमझने की एक्टिंग करे, उसे आपके समझाने से क्या फ़र्क़ पड़ेगा? ये वही आतंकी हैं...सीएए से एक भी इंसान की सिटिज़ेन्शिप नहीं गयी मगर इन्होंने ख़ून की नदियाँ बहा दीं।’

पंजाब कांग्रेस और एनएसयूआई ने भी इन रोष प्रदर्शनों में हिस्सा लिया। एनएसयूआई के पंजाब अध्यक्ष अक्षय शर्मा ने नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने कंगना के बयान की आलोचना करते हुए कहा कि अभिनेत्री ने भाजपा मोह में सभी सीमाएं लांघ ली हैं और किसानों का अपमान करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है।

कंगना विरोधी प्रदर्शनों के कुछ देर बाद ही ‘मनिकर्णिका’ अभिनेत्री ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा-पहले कांग्रेस ने महाराष्ट्र में मुझे धमकाया और मेरे पोस्टरों को चप्पल से मारा और अब पंजाब में मेरे पुतले फूंके। यह शायद गलतफहमी है-मैं कोई मंत्री या कोई विपक्षी नेता नहीं हूं...मगर मुझे अच्छा लग रहा है।’

 

 

 

 

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और उसके द्वंद्व

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और उसके द्वंद्व

भाषा की कसौटी पर न हो संवेदना की परख

भाषा की कसौटी पर न हो संवेदना की परख