हिमाचल उपचुनाव में प्रचार जोरों पर

जयराम ने भरमौर, किलाड़ और मनाली में मांगे वोट

जयराम ने भरमौर, किलाड़ और मनाली में मांगे वोट

शिमला, 13 अक्तूबर (निस)

हिमाचल प्रदेश में 30 अक्तूबर को होने वाले एक संसदीय और तीन विधानसभा उपचुनाव के लिए चुनाव प्रचार लगातार जारी है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने आज चंबा जिला के जनजातीय क्षेत्र भरमौर में पार्टी प्रत्याशी खुशाल ठाकुर के समर्थन में चुनावी रैली को संबोधित किया और वोट मांगे। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर कांग्रेस पर जोरदार हमले बोले। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेताओं की रैलियों में संवेदनाएं और सच कम है तथा राजनीति ज्यादा है। उन्होंने कहा कि भावनाओं में बहकर काम नहीं किए जा सकते। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि विकास तभी किया जा सकता है जब केंद्र व प्रदेश में एक ही पार्टी की सरकार हो। उन्होंने कांग्रेस पर शहीदों के अपमान का आरोप भी लगाया और कहा कि भाजपा सरकार भरमौर के विकास पर सबसे अधिक पैसा खर्च कर रही है। रैली को संबोधित करने से पहले मुख्यमंत्री ने भरमौर के चौरासी मंदिर में पूजा अर्चना कर माथा भी टेका। उन्होंने बाद में किलाड़ में भी एक चुनावी जनसभा को संबोधित किया और खुशाल ठाकुर के लिए वोट मांगे। मुख्यमंत्री ने आज मनाली में भी एक चुनावी जनसभा को संबोधित किया। मुख्यमंत्री कल मंडी जिला के छतरी, जंजैहली और कुल्लू जिला के बंजार में चुनावी जनसभाओं को संबोधित करेंगे।

धन-सत्ता के बल पर चुनाव लड़ती है भाजपा : प्रतिभा सिंह

हिमाचल प्रदेश के मंडी संसदीय उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी प्रतिभा सिंह ने आज सरकाघाट विधानसभा क्षेत्र में भांबला, बलद्वाड़ा, नवाही, रोपड़ी, गौणत और सरकाघाट में चुनावी जनसभाओं को संबोधित किया। प्रतिभा सिंह ने इस दौरान भाजपा पर राजनीतिक हमले बोले और कहा कि भाजपा धन बल और सत्ता बल पर चुनाव लड़कर लोगों को भ्रमित करती है और सत्ता पर काबिज होती है। प्रतिभा सिंह ने कहा कि उनका चुनाव लड़ने का मकसद किसी प्रकार का पद हासिल करना नहीं बल्कि लोगों की सेवा करना है। प्रतिभा सिंह ने ये भी कहा कि देश की सरहदों की रक्षा में अपने बच्चों को भेजने वाले माता-पिता महान हैं और देश के ऐसे वीर सपूतों की शहादत का हम दिल से सम्मान करते हैं। उन्होंने ये भी कहा कि ऐसे परिवारों और शहीदों का ऋण देश और प्रदेशवासी कभी नहीं चुका सकते। दूसरी ओर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने आज मंडी में पार्टी पदाधिकारियों के साथ एक बैठक कर चुनाव प्रचार की समीक्षा की। इस बैठक में कांग्रेस के हिमाचल मामलों के प्रभारी संजय दत्त भी मौजूद रहे।

18 उम्मीदवार चुनाव मैदान में, बरागटा निष्कािसत

मंडी लोकसभा और अर्की, फतेहपुर तथा जुब्बल कोटखाई विधानसभा के लिए 30 अक्तूबर को होने वाले उपचुनाव के लिए नामांकन वापसी के साथ ही अब चुनावी तस्वीर साफ हो गई है। नामांकन वापस लेने की समय सीमा खत्म होने के बाद 18 उम्मीदवार चुनाव मैदान में रह गए हैं। मंडी संसदीय उपचुनाव के लिए 6 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इनमें भाजपा से ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर, कांग्रेस से प्रतिभा सिंह, राष्ट्रीय लोकनीति पार्टी से अंबिका श्याम, हिमाचल जन क्रांति पार्टी से मुंशी राम ठाकुर, और अनिल कुमार व सुभाष मोहन स्नेही निर्दलीय उम्मीदवार शामिल हैं। जुब्बल कोटखाई विधानसभा क्षेत्रसे भाजपा के बागी उम्मीदवार चेतन बरागटा ने अपना नाम वापस नहीं लिया है जिस पर प्रदेश अध्यक्ष सुरेश कश्यप ने उन्हें अनुशासहीनता के आरोप में 6 साल के लिये पार्टी से निकाल दिया। यहां नीलम सरेइक भाजपा और रोहित ठाकुर कांग्रेस के उम्मीदवार हैं जबकि सुमन कदम निर्दलीय प्रत्याशी हैं। अर्की विधानसभा क्षेत्र में तिकोना मुकाबला होगा। यहां भाजपा की ओर से रत्न पाल सिंह और कांग्रेस की ओर से संजय अवस्थी चुनाव मैदान में हैं जबकि जीतराम निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ रहे हैं। फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र में पांच उम्मीदवार चुनाव मैदान में है। इनमें बलदेव ठाकुर भाजपा, से जबकि भवानी सिंह पठानिया कांग्रेस उम्मीदवार हैं। पंकज कुमार दार्शी हिमाचल जनक्रांति पार्टी से चुनाव लड़ रहे हैं। वहीं डॉ. राजन सुशांत और डॉ. अशोक कुमार निर्दलीय उम्मीदवार हैं। 

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

‘राइट टू रिकॉल’ की प्रासंगिकता का प्रश्न

‘राइट टू रिकॉल’ की प्रासंगिकता का प्रश्न

शाश्वत जीवन मूल्य हों शिक्षा के मूलाधार

शाश्वत जीवन मूल्य हों शिक्षा के मूलाधार

कानूनी चुनौती के साथ सामाजिक समस्या भी

कानूनी चुनौती के साथ सामाजिक समस्या भी

देने की कला में निहित है सुख-सुकून

देने की कला में निहित है सुख-सुकून

मुख्य समाचार

उत्तराखंड में मूसलाधार बारिश, 23 की मौत

उत्तराखंड में मूसलाधार बारिश, 23 की मौत

मौसम की मार नैनीताल का संपर्क कटा। यूपी में 4 की गयी जान

अपनी सियासी पार्टी बनाएंगे कैप्टन

अपनी सियासी पार्टी बनाएंगे कैप्टन

भाजपा के साथ सीटों के बंटवारे के लिए बातचीत को तैयार

दुर्भाग्य से यह देश का  यथार्थ : ऑक्सफैम

दुर्भाग्य से यह देश का  यथार्थ : ऑक्सफैम

भुखमरी सूचकांक  पाक, नेपाल से पीछे भारत