मनाली, नारकंडा और कुफरी में सीजन का पहला हिमपात, 8 और 9 दिसंबर को फिर बर्फबारी की संभावना

जनजातीय क्षेत्रों में बर्फबारी से जनजीवन प्रभावित

मनाली, नारकंडा और कुफरी में सीजन का पहला हिमपात, 8 और 9 दिसंबर को फिर बर्फबारी की संभावना

कुफरी में ताजा हिमपात का दृश्य।-ट्रिब्यून फोटो

ज्ञान ठाकुर/निस

शिमला, 6 दिसंबर

हिमाचल प्रदेश के जनजातीय व अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में आज लगातार दूसरे दिन रुक-रुक कर बर्फबारी का सिलसिला जारी है। राज्य के कई निचले क्षेत्रों में इस दौरान वर्षा और ओलावृष्टि भी हुई है जिससे तापमान में गिरावट जारी है। प्रसिद्ध पर्यटक स्थल मनाली और नारकंडा में बीती रात और आज इस मौसम का पहला हिमपात हुआ। कुफरी में भी आज दिन भर रुक-रुक कर बर्फ के फाहे गिरते रहे। इसके चलते पर्यटकों और पर्यटन व्यवसायियों दोनों के चेहरे खिल उठे हैं। आज बड़ी संख्या में पर्यटकों ने नारकंडा, कुफरी और मनाली में बर्फबारी का आनंद लिया।

जनजातीय जिला लाहौल स्पीति में भी बर्फबारी से जनजीवन प्रभावित हुआ है। अटल टनल रोहतांग के नॉर्थ पोर्टल पर आज आठ इंच से अधिक ताजा बर्फबारी दर्ज की गई। धुंधी में भी रुक-रुक कर बर्फबारी हो रही है। इसके चलते मनाली-केलांग सड़क को यातायात के लिए बंद कर दिया गया है। किन्नौर जिला की ऊंची चोटियों पर भी आज दूसरे दिन रुक-रुक कर हिमपात जबकि निचले क्षेत्रों में वर्षा हो रही है। सिरमौर के हरिपुरधार क्षेत्र में आज इस मौसम की पहली बर्फबारी हुई है। इससे पूरे सिरमौर क्षेत्र में लोगों को जोरदार ठंड का सामना करना पड़ रहा है।

राजधानी शिमला में सुबह से ही रुक-रुक कर हल्की वर्षा हो रही है। इस दौरान शहर के कुछ इलाकों में ओलावृष्टि भी हुई। अब इस पर्यटन नगरी को बेसब्री से पहली बर्फबारी का इंतजार है। इस बीच मौसम विभाग ने आज राज्य में कुछ स्थानों पर वर्षा और बर्फबारी की संभावना जताई है। प्रदेश में कल मौसम साफ रहने का पूर्वानुमान है जबकि 8 और 9 दिसंबर को प्रदेश में फिर से वर्षा और बर्फबारी की संभावना है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

अन्न जैसा मन

अन्न जैसा मन

कब से नहीं बदला घर का ले-आउट

कब से नहीं बदला घर का ले-आउट

एकदा

एकदा

बदलते वक्त के साथ तार्किक हो नजरिया

बदलते वक्त के साथ तार्किक हो नजरिया

मुख्य समाचार