हिसार में शुरू हुई राज्य की चौथी रीजनल एफएसएल लैब

4 जिलों में क्राइम सुलझाने के लिए स्पॉट पर पहुंचेगी फॉरेंसिंग साइंस लैब से टीम

हिसार में शुरू हुई राज्य की चौथी रीजनल एफएसएल लैब

प्रतीकात्मक चित्र

ट्रिब्यून न्यूज सर्विस

चंडीगढ़, 23 फरवरी

हरियाणा पुलिस द्वारा अपराध की जांच में तेजी लाने के उद्देश्य से प्रदेश में स्थापित चौथी रीजनल फॉरेंसिक साइंस लैब (एफएसएल) ने हिसार में कार्य करना शुरू कर दिया है। प्रदेश में तीन रीजनल लैब गुरुग्राम के भौंडसी, रोहतक के सुनारिया और पंचकूला के मोगीनंद मे पहले से ही संचालित हैं। मधुबन में मुख्य फॉरेंसक साइंस लैब की सुविधा है। पुलिस प्रवक्ता ने मंगलवार को यहां कहा कि नई रीजनल एफएसएल ने 12 फरवरी से नारकोटिक, टोक्सिकोलॉजी और सेरोलॉजी डिविजन में विभिन्न आपराधिक मामलों से संबंधित सैम्पल लेने शुरू कर दिए हैं। इस लैब पर हिसार, फतेहाबाद और सिरसा और हांसी पुलिस जिला के केसों की जांच का ही भार होगा। रीजनल लैब की स्थापना का उद्देश्य वैज्ञानिक तरीकों का उपयोग करके अधिक कुशल जांच प्रक्रिया सुनिश्चित करना है। लैब के काम करने से उपरोक्त जिलों के लोगों को जल्द न्याय मिलेगा। इससे पहले इन चारों जिले में होने वाले अपराधों से संबंधित सैंपलों की जांच एफएसएल मधुबन में की जाती है। वहां केस जमा करने और रिपोर्ट प्राप्त करने के लिए समय और संसाधन दोनो की खपत हो रही थी। साथ ही जांच का अधिक भार होने के कारण रिर्पोट आने में भी विलंब होता था। अब रीजनल लैब संचालित होने से पूरी जांच प्रक्रिया को तेज करते हुए जल्द से जल्द नतीजे मिलेंगे।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

रसायन मुक्त खिलौनों का उम्मीद भरा बाजार

रसायन मुक्त खिलौनों का उम्मीद भरा बाजार

जन सरोकारों की अनदेखी कब तक

जन सरोकारों की अनदेखी कब तक

एमएसपी से तिलहन में आत्मनिर्भरता

एमएसपी से तिलहन में आत्मनिर्भरता

अभिवादन से खुशियों की सौगात

अभिवादन से खुशियों की सौगात

शहर

View All