जिलों से उद्घाटन, आधारशिला वाले प्रोजेक्ट्स की मांगी रिपोर्ट

कई नई परियोजनाओं की नींव रखेंगे मुख्यमंत्री, 24 घंटों में मांगी रिपोर्ट

जिलों से उद्घाटन, आधारशिला वाले प्रोजेक्ट्स की मांगी रिपोर्ट

चंडीगढ़, 14 सितंबर (ट्रिन्यू)

करनाल में किसान आंदोलन को शांतिपूर्ण तरीके से निपटाने में कामयाब रही राज्य की भाजपा-जेजेपी गठबंधन सरकार अब विकास कार्यों को गति देने की कोशिश में है। एक साथ प्रदेश के लोगों को करोड़ों रुपये की सौगात मिल सकती है। सीएमओ ने सभी विभागों के मुखियाओं और जिलों के डीसी से उन सभी योजनाओं की रिपोर्ट तलब की है, जिनका उद्घाटन या शिलान्यास होना है।

जिलों के अधिकारियों को 24 घंटों में यह रिपोर्ट भेजने के आदेश दिए गए हैं। सीएमओ से जुड़े सूत्रों का कहना है कि एक साथ ही प्रदेश में सैकड़ों करोड़ रुपये की योजनाओं का श्रीगणेश और नींव पत्थर रखा जा सकता है। इससे पहले भी कोरोना काल के दौरान ही सीएम वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये प्रदेश के कई जिलों में विकास परियोजनाओं का उदघाटन व शिलान्यास कर चुके हैं। इस पूरी कवायद को राज्य में होने वाले शहरी स्थानीय निकाय चुनावों से भी जोड़कर देखा जा रहा है।

बुधवार की शाम तक जिलों के डीसी की रिपोर्ट सीएमओ में पहुंचेगी। इसके बाद सीएमओ जिलावार विकास परियोजनाओं का खाका तैयार करेगा। सीएम से चर्चा के बाद पूरे हो चुके प्रोजेक्ट्स के उद्घाटन और नये कार्यों के शिलान्यास को लेकर फैसला होगा। कोरोना महामारी का असर विकास परियोजनाओं पर भी पड़ा है। वहीं दिल्ली बाॅर्डर पर पिछले करीब 10 माह से चल रहे किसान आंदोलन के चलते भी सरकार के मंत्रियों-विधायकों को जिलों में जाकर विकास परियोजनाओं की शुरुआत करने में दिक्कत आती रही है। हालांकि इस बीच देश की आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में भाजपा की ओर से राज्य के सभी 90 हलकों में ‘तिरंगा यात्राएं’ निकाली जा चुकी हैं।

मुख्यमंत्री के विशेष वरिष्ठ सचिव की ओर से डीसी को भेजे पत्र में साफ कहा गया है कि वे हर हाल में बुधवार शाम तक अपने यहां के प्रोजेक्ट्स के बारे में रिपोर्ट करें। डीसी को यह बताना होगा कि उनके जिलों में कौन-कौन सी परियोजनाएं ऐसी हैं, जो पूरी हो चुकी हैं, अथवा पूरी होने वाली हैं।

उन सभी परियोजनाओं की भी रिपोर्ट मांगी गई है जिन्हें सरकार की सैद्धांतिक मंजूरी मिल चुकी है और केवल आधारशिला रखना बाकी है। बताया गया है कि सरकार अब किसान आंदोलन तथा कोरोना की दूसरी लहर के अंतिम पड़ाव में पहुंचने के चलते किसी तरह का जोखिम लेने के मूड में नहीं है। जनता को सरकारी परियोजनाओं का पूरा लाभ दिया जाएगा। इसी के चलते यह जानकारी मांगी गई है। इस रिपोर्ट के आधार पर मुख्यमंत्री द्वारा मंत्री समूह की बैठक में कोई फैसला लिया जाएगा।

पोलैंड के राजदूत प्रो़ बर्कोवस्की ने की सीएम से मुलाकात

चंडीगढ़ (ट्रिन्यू): मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से भारत में पोलैंड के राजदूत प्रो. एडम बर्कोवस्की ने मंगलवार को मुख्यमंत्री कार्यालय में शिष्टाचार भेंट की। कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जेपी दलाल भी इस मौके पर मौजूद रहे। बैठक में पोलैंड सरकार के सहयोग से भारत, विशेष रूप से हरियाणा के लिए विभिन्न विकास क्षेत्रों की पहचान करने और निवेश को लेकर व्यापक चर्चा हुई। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने प्रो. बर्कोवस्की को फरीदाबाद में होने वाले सूरजकुंड अंतर्राष्ट्रीय शिल्प मेला-2023 का पार्टनर देश बनने के लिए भी आमंत्रित किया।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

शह-मात का खेल‌‍

शह-मात का खेल‌‍

इंतजार की लहरों पर सवारी

इंतजार की लहरों पर सवारी

पद के जरिये समाज सेवा का सुअवसर

पद के जरिये समाज सेवा का सुअवसर

झाझड़िया के जज्बे से सोने-चांदी की झंकार

झाझड़िया के जज्बे से सोने-चांदी की झंकार

बीत गये अब दिखावे के सम्मोहक दिन

बीत गये अब दिखावे के सम्मोहक दिन