पीयू की दिसंबर में होने वाली अंडरग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सों की परीक्षा होगी आनलाइन

छात्रों के दबाव और नये कोविड वेरिएंट के मद्देनजर लिया फैसला

पीयू की दिसंबर में होने वाली अंडरग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सों की परीक्षा होगी आनलाइन

प्रतीकात्मक चित्र

जोगिंद्र सिंह/ट्रिन्यू

चंडीगढ़, 1 दिसंबर

पंजाब विश्वविद्यालय प्रशासन ने एक बार फिर छात्रों के दबाव में आकर दिसंबर में होने वाली अंडरग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सों की परीक्षा आनलाइन ही लेने का फैसला लिया है। आनलाइन परीक्षा लेने के पीछे एक अन्य कारण पूरी दुनिया में कोरोना के नये वेरियंट ओमिक्रॉन से एक बार फिर नई लहर आने के अंदेशा भी रहा है। परीक्षा नियंत्रक प्रो. जगत भूषण ने बताया कि पीयू प्रशासन ने बड़े विचार-विमर्श के बाद सभी पहलुओं पर गौर करते हुए दिसंबर में होने वाली परीक्षा को पिछले तीन सेमेस्टर की तरह आनलाइन ही लेने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि छात्रों के साथ बाकी के दिशा-निर्देश बाद में शेयर कर लिये जायेंगे। इसी के साथ उन्होंने बताया कि अंडरग्रेजुएट कक्षाओं के प्रैक्टिकल 17 दिसंबर से 21 दिसंबर के बीच होंगे और पोस्ट ग्रेजुएट कक्षाओं के प्रैक्टिकल एग्जाम 20 से 24 दिसंबर के बीच आयोजित किये जा रहे हैं। उन्होंने साफ किया कि अंडरग्रेजुएट कक्षाओं की आनलाइन परीक्षा की डेट 22 दिसंबर ही रहेगी जबकि पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सों के लिये परीक्षाएं 27 दिसंबर से शुरू होने जा रही हैं।

छात्रों के दबाव के आगे झुकी पीयू

पिछले कई दिनों से एसएफएस (स्टूडेंट्स फार सोसायटी), सोई (स्टूडेंट्स आर्गेनाइजेश आफ इंडिया) और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) आनलाइन एग्जाम की मांग को लेकर धरना-प्रदर्शन कर रहे थे। उनके दबाव के आगे पीयू झुक गयी और अपना पहले आफलाइन परीक्षा लेने का फैसला बदलना पड़ा। हाालंकि पहले ये सभी संगठन मांग कर रहे थे कि पीयू कैंपस और कालेज खोले जायें और कक्षाएं आफलाइन लगायी जायें मगर अब एकाएक पलटी मार गये। छात्रों का तर्क है कि पीयू प्रशासन ने समय से कैंपस नहीं खोला और न ही रीजनल सेंटर और कालेज खोले जिसके चलते कक्षाएं आफलाइन लग ही नहीं पायी। जब कक्षाएं आनलाइन तो परीक्षा आफलाइन क्यों हो? पीयू प्रशासन ने भी छात्रों की थाह लेने को बीच में एक बयान जारी कर दिया कि 22 दिसंबर से होने वाले एग्जाम आफलाइन होंगे। इसी के बाद छात्र संगठन इसके विरूद्ध खड़े हो गये और पीयू पर दबाव बनाया कि एग्जाम आनलाइन ही लिये जायें। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि न तो कोई छात्र चाहता है कि परीक्षाएं फिजिकली हों और न ही कालेज ये चाहते हैं कि परीक्षा आफलाइन आयोजित की जाये। उन्होंने कहा कि कुलपति द्वारा डीयूआई की अध्यक्षता में गठित की गयी कमेटी ने तय किया कि दिसंबर में होने वाली परीक्षाएं इस बार भी आनलाइन ही होंगी।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

अन्न जैसा मन

अन्न जैसा मन

कब से नहीं बदला घर का ले-आउट

कब से नहीं बदला घर का ले-आउट

एकदा

एकदा

बदलते वक्त के साथ तार्किक हो नजरिया

बदलते वक्त के साथ तार्किक हो नजरिया

मुख्य समाचार

कोल्हापुर : 14 बच्चों के अपहरण और 5 बच्चों की हत्या की दोषी बहनों की फांसी की सज़ा उम्रकैद में बदली

कोल्हापुर : 14 बच्चों के अपहरण और 5 बच्चों की हत्या की दोषी बहनों की फांसी की सज़ा उम्रकैद में बदली

मौत की सजा पर अमल में अत्यधिक विलंब के कारण हाईकोर्ट ने लिया...