हरियाणा : इजिप्ट की कपास पैदा करने वाले किसानों को मिलेगा तोहफा, एमएसपी पर खरीदने की तैयारी!

केंद्र सरकार कृषि कानूनों में बदलाव को तैयार, अब किसी तरह का विवाद नहीं : दुष्यंत

हरियाणा : इजिप्ट की कपास पैदा करने वाले किसानों को मिलेगा तोहफा, एमएसपी पर खरीदने की तैयारी!

ट्रिब्यून न्यूज सर्विस

चंडीगढ़, 14 जनवरी

हरियाणा के उन किसानों के लिए यह अच्छी खबर हो सकती है, जो इजिप्ट की कपास की खेती हरियाणा में करते हैं। अकेले हरियाणा ही नहीं, पंजाब व राजस्थान सहित कई अन्य राज्यों में भी इजिप्ट की लम्बे रेशे वाली कपास का उत्पादन होता है। यह ओपन मार्केट में तो बिकती है, लेकिन इसका अभी तक कोई एमएसपी (न्यूनतम समर्थन मूल्य) नहीं है। केंद्र सरकार सैद्धांतिक तौर पर इसके लिए राजी हो गई है।

बुधवार को नई दिल्ली में पीएम नरेंद्र मोदी के साथ हुई करीब 58 मिनट की मुलाकात के दौरान डिप्टी सीएम व जेजेपी नेता दुष्यंत सिंह चौटाला ने यह मुद्दा उठाया। बृहस्पतिवार को चंडीगढ़ में पत्रकारों से बातचीत में दुष्यंत ने कहा कि पीएम के सामने पांच मुद्दों पर चर्चा हुई है। उन्होंने कहा कि इजिप्ट की कपास की कीमत अधिक है। इसे एमएसपी पर खरीदने का आग्रह पीएम से किया तो उन्होंने इसके लिए हामी भरी है।

केंद्र सरकार ने इसके लिए विस्तृत रिपोर्ट बनाकर भेजने को कहा है। दुष्यंत ने कहा कि इस बारे में पूरी रिपोर्ट तैयार करके केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी के पास भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि लम्बे रेशे वाली इस कपास की डिमांड बहुत है, लेकिन एमएसपी नहीं होने की वजह से किसान का उतना रुझान नहीं है। प्रदेश के काफी किसान इसकी खेती करते हैं, लेकिन फिलहाल वे ओपन मार्केट में ही इसे बेच रहे हैं। एमएसपी अगर मिलती है तो मिस्र की कपास खेती के उत्पादन को किसान बढ़ावा देंगे।

वहीं दूसरी ओर, सरसों के तेल की विदेशी मार्केट में डिमांड को देखते हुए इसके लिए भी पीएम नरेंद्र मोदी व गृह मंत्री अमित शाह से दुष्यंत ने चर्चा की है। उन्होंने कहा कि मिडल ईस्ट के कुछ देशों में सरसों का तेल 2000 से लेकर 2800 रुपये प्रति लीटर तक बिक रहा है। वहीं अपने यहां इसका रेट 100 से 125 रुपये तक है। इस बारे में भी विस्तृत रिपोर्ट बनाकर केंद्र को भेजी जाएगी ताकि दूसरे देशों में सरसों के तेल की सप्लाई की जा सके। इसके किसानों का काफी फायदा होगा।

ग्रीन कॉरिडोर को लगेंगे पंख

हालांकि केंद्र सरकार ने नई सड़क परियोजनाओं पर फिलहाल रोक लगाई हुई है लेकिन डबवाली (सिरसा) से उत्तर प्रदेश के मेरठ तक के ग्रीन कॉरिडोर को जल्द पंख लगेंगे। दुष्यंत ने कहा कि यह मुद्दा उन्होंने प्रधानमंत्री के सामने उठाया। पीएम ने कहा कि वे इस बारे में केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से बात करेंगे और जल्द मंजूरी दिलवाई जाएगी। डबवाली से सिरसा, फतेहाबाद, उचाना कलां, नगूरा, सफीदों व पानीपत होते हुए यह कॉरिडोर मेरठ तक पहुंचेगा।

हिसार शिफ्ट होगा फार्मा पार्क

सीएम सिटी करनाल के लिए मंजूर हुए ब्लक फार्मा पार्क को अब हिसार में शिफ्ट किया जाएगा। केंद्र सरकार मोटे तौर पर इसके लिए राजी हो गई है। करनाल में यह फिजिबल नहीं होने की वजह से यह निर्णय लिया है। दुष्यंत ने कहा कि पीएम के साथ उन्होंने 200 एकड़ में बनने वाले टैक्सटाइल पार्क को लेकर भी चर्चा की। एचएसआईआईडीसी इसके लिए सोनीपत व पानीपत के बीच जमीन उपलब्ध कराएगी। उन्होंने हिसार के राखीगढ़ी के विकास के लिए 500 करोड़ रुपये का पैकेज देने की मांग भी पीएम से की।

जेजेपी में मतभेद नहीं, हम किसानों के साथ

तीन कृषि कानूनों को लेकर दिल्ली बार्डर पर चल रहे आंदोलन को लेकर दुष्यंत चौटाला ने कहा, 'मैं खुद किसान हूं और जेजेपी किसानों के साथ है। जेजेपी ने कृषि कानूनों में बदलाव और किसानों को एमएसपी की गारंटी का समर्थन किया था। केंद्र सरकार कानूनों में संशोधन के लिए भी तैयार है और एमएसपी की गारंटी भी दी जा रही है। ऐसे में अब किसी तरह की अड़च नहीं है'। उन्होंने कहा, 'मैंने पहले ही दिन कहा था कि एमएसपी पर कोई संकट आया तो सबसे पहले मैं इस्तीफा दूंगा'। जेजेपी विधायकों के बागी सुरों को लेकर पूछने पर दुष्यंत ने कहा कि पार्टी विधायकों व नेताओं में किसी तरह के मतभेद नहीं हैं। विधायक भी संशोधन की मांग कर रहे थे और इसके लिए केंद्र कह ही चुका है।

समय पर होंगे चुनाव, 200 नई पंचायतें बनीं

हरियाणा में पंचायती राज संस्थाओं - जिला परिषद, ब्लाक समिति व ग्राम पंचायतों के चुनाव समय पर ही होंगे। मौजूदा पंचायतों का कार्यकाल 24 फरवरी तक है। इससे पहले नई पंचायतों का गठन होना है। विकास एवं पंचायत मंत्री होने के नाते दुष्यंत ने कहा कि इस बारे 200 नई पंचायतें बनी हैं। इनकी वार्डबंदी का काम अंतिम चरण में है। उन्होंने कहा कि किसी भी सूरत में चुनाव लेट नहीं होंगे। अमित शाह से मुलाकात को लेकर जब उनसे पूछा तो उन्होंने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री ने गणतंत्र दिवस के दौरान सुरक्षा को लेकर इनपुट मांगे थे। उन्हें इसके बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है।

 

 

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

मुख्य समाचार

गाजीपुर बार्डर खाली कराने की तैयारी, यूपी सरकार ने दिये आदेश!

गाजीपुर बार्डर खाली कराने की तैयारी, यूपी सरकार ने दिये आदेश!

कहा-अगर किसान खुद ही आज धरना स्थल खाली कर दें तो उन्हें घर ज...

किसानों के मुद्दे पर 16 विपक्षी दलों ने राष्ट्रपति कोविंद के अभिभाषण के बहिष्कार का किया फैसला!

किसानों के मुद्दे पर 16 विपक्षी दलों ने राष्ट्रपति कोविंद के अभिभाषण के बहिष्कार का किया फैसला!

बयान में कहा-प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा सरकार बनी हुई है अहं...

शहर

View All