पुजारी की हत्या के मामले में किया रोष प्रदर्शन

पुजारी की हत्या के मामले में किया रोष प्रदर्शन

रोहतक, 16 अक्तूबर (हप्र)

पंडित श्रीराम शर्मा विचार मंच ने राजस्थान के करौली जिला में ब्राह्मण पुजारी बाबू लाल शर्मा को जिंदा जलाकर हत्या करने व हाथरस कांड के खिलाफ रोष प्रदर्शन करते हुए स्थानीय आईसी कालेज स्थित पं. श्रीराम शर्मा की प्रतिमा के सामने धरना दिया। वहीं उपायुक्त के माध्यम से प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन भेजा। मंच ने मांग की कि पुजारी की हत्या के सभी दोषियों को तुरंत गिरफ्तार कर फांसी दी जाए। साथ ही उन्होंने हाथरस कांड के दोषियों को जल्दी से जल्दी फांसी देने की मांग की। मंच के अध्यक्ष डा. अशोक दीक्षित के नेतृत्व में यह प्रदर्शन किया गया। ज्ञापन देने से पहले सतीश प्रकाश पहरावर, नरेन्द्र वत्स, जगदीश, धर्मसिंह प्रजापत, अनूप डागर, संजय गौड़ आदि मौजूद थे। 

18 नवंबर को मनाया जायेगा रेजांगला शौर्य दिवस
रेवाड़ी, 16 अक्तूबर (निस)

शहर के धारूहेड़ा चौक स्थित रेजांगला शौर्य स्मारक पर शुक्रवार को रेजांगला शौर्य समिति की आम सभा हुई। जिसकी अध्यक्षता राव संजय सिंह ने की। बैठक में यह निर्णय लिया गया कि 18 नवंबर को रेजांगला शौर्य दिवस समारोह को एक उत्सव के रूप में मनाया जाएगा। समिति के महासचिव नरेश चौहान, कर्नल रणबीर सिंह यादव, सेना मेडल निहाल सिंह, कप्तान रामचंद्र, हवलदार भयराम, मेजर अशोक यादव ने कहा कि 20 अक्तूबर 1962 को शुरू हए चीन के साथ भीषण युद्ध के बीच में ही दीवाली का त्यौहार आया था। मशहूर गीतकार प्रदीप का स्वर कोकिला लता मंगेशवर द्वारा गाये जब देश में थी दिवाली, वो खेल रहे थे होली गीत रेजांगला के अमर शहीदों को ही समर्पित है।

एसआरएस ग्रुप के खिलाफ एक और केस
फरीदाबाद, 16 अक्टूबर (हप्र)

रियल एस्टेट, ज्वैलरी और सिनेमा के कारोबार से जुड़े एसआरएस ग्रुप के खिलाफ सब्जबाग दिखाकर विला बेचने का मुकदमा दर्ज हुआ है। यह मुकदमा डिफेंस कालोनी दिल्ली निवासी रूबी सिंह की शिकायत पर तिगांव थाने में दर्ज हुआ।

रूबी सिंह ने कहा है कि एसआरएस ग्रुप ने ग्रेटर फरीदाबाद में रिट्रीट फार्म नाम से साल 2013 में एक रियल एस्टेट स्कीम लांच की थी। इसमें उन्होंने आरडब्ल्यूए आफिस, क्लब हाउस, गोल्फ कोर्स सहित अन्य सुविधाएं देने का वादा किया था। रूबी सिंह के मुताबिक उन्होंने इन सुविधाओं को देखते हुए एक विला खरीद लिया था। आरोप है कि ग्रुप ने इनमें से कोई भी सुविधाएं उन्हें प्रदान नहीं की। आरोप है कि उन्होंने जब सुविधाओं के लिए ग्रुप से मांग की तो उनसे भुगतान के लिए कहा गया। उन्होंने मना कर दिया। इससे पहले एसआरएस ग्रुप के चेयरमैन सहित अन्य अधिकारियों के खिलाफ पहले भी कई मुकदमे दर्ज हैं। मार्च 2019 में आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। तभी से वे जेल में बंद हैं।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

कोर्ट की सख्ती के बाद खाली होंगे आवास

कोर्ट की सख्ती के बाद खाली होंगे आवास

संदेह के खात्मे से विश्वास की शुरुआत

संदेह के खात्मे से विश्वास की शुरुआत

चलो दिलदार चलो...

चलो दिलदार चलो...

शहर

View All