अलग-अलग ढंग से रोष जता रहे किसान और जनसंगठन

अलग-अलग ढंग से रोष जता रहे किसान और जनसंगठन

रोहतक, 19 जनवरी (हप्र)

कृषि कानूनों के विरोध में रोहतक जिले के जनसंगठन, छात्र व किसानों के समूह अपने-अपने ढंग से सरकार पर दबाव बनाने में जुटे हैं। कहीं ट्रैक्टरों की रिहर्सल हो रही है तो कहीं धरने दिये जा रहे हैं, कहीं ग्रामीण लामबंद होकर दिल्ली कूच कर रहे हैं। कुछ जगह भंडारे लगे हुए हैं तो कई गांवों के ग्रामीण बाॅर्डर पर धरनों में राहत सामग्री पहुंचाने में जुटे हैं। कुछ ऐसा ही नजारा जिले के गांव खरावड में नजर आया। यहां किसानों ने 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च में भाग लेने के लिए बाबा चमन ऋषि धाम के पास आईएमटी में ट्रैक्टरों की रिहर्सल की। सेवानिवृत्त कैप्टन जगबीर मलिक ने बताया कि गांव कारोर, गांधरा, अटायल, नौनंद, खेड़ी साध के किसान अपने ट्रैक्टर लेकर बाबा टहलनाथ गौशाला के पास आईएमटी रोड पर पहुंचे और ट्रैक्टरों पर तिरंगा झंडा लगाकर रिर्हसल की। उधर, गांव मदीना टोल प्लाजा व मकडौली टोल प्लाजा पर चल रहे धरनों पर भारी संख्या में ग्रामीण जुट रहे हैं।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

राजनेताओं की जवाबदेही का सवाल

राजनेताओं की जवाबदेही का सवाल

तेल से अर्जित रकम का कीजिए सदुपयोग

तेल से अर्जित रकम का कीजिए सदुपयोग

ताऊ और तीसरी धारा की राजनीति

ताऊ और तीसरी धारा की राजनीति

अभिमान से मुक्त होना ही सच्चा ज्ञान

अभिमान से मुक्त होना ही सच्चा ज्ञान

फलक पर स्थापित ‘थलाइवा’ को फाल्के

फलक पर स्थापित ‘थलाइवा’ को फाल्के

नंदीग्राम रणभूमि के नये सारथी शुभेंदु

नंदीग्राम रणभूमि के नये सारथी शुभेंदु

राजनीति से अहद-ए-वफा चाहते हो!

राजनीति से अहद-ए-वफा चाहते हो!