बहादुरगढ़ : किसान आंदोलन में शामिल पंजाब के मानसा की महिलाओं को टिकरी बार्डर पर तेज रफ्तार डंपर ने कुचला, 3 की मौत; ड्राइवर फरार

आंदोलन में अपनी बारी खत्म करके घर वापसी के लिए फ्लाईओवर के नीचे कर रही थी ऑटो का इंतजार

रोहित विद्यार्थी/निस

बहादुरगढ़, 28 अक्तूबर

तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे किसानों के हरियाणा के टीकरी बॉर्डर पड़ाव में झज्जर-बहादुरगढ़ रोड पर बाईपास के फ्लाईओवर के नीचे पंजाब के जिला मानसा की निवासी 3 किसान आंदोलनकारी महिलाओं की डंपर से कुचले जाने से मौत हो गई। हादसे में एक महिला घायल भी हुई है। आज सुबह करीब 6.15 बजे यहां कुछ महिलाएं और पुरुष स्थानीय रेलवे स्टेशन जाने के लिए ऑटो रिक्शा का इंतजार कर रहे थे। उन्हें पंजाब जाना था। महिलाएं डिवाइडर पर बैठी थीं कि तेज गति से आए डंपर ने उन्हें रौंद दिया।

सूचना मिलने पर पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची और घायल महिला को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस ने शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल के शव गृह में भेज दिया है। घटना के बाद चालक डंपर को छोड़कर फरार हो गया। पुलिस की ओर से उसकी तलाश की जा रही है।

गुरुवार सुबह करीब 6:15 बजे किसान आंदोलन में छिंदर कौर पत्नी भान सिंह उम्र 60 साल, अमरजीत कौर पत्नी हरजीत सिंह उम्र 58 वर्ष, गुरमेल कौर पत्नी भोला सिंह उम्र करीब 60 वर्ष जो झज्जर रोड फ्लाईओवर के पास रहते थी और अपनी बारी खत्म कर पंजाब जाने के लिए ऑटो का इंतजार कर रही थी। वे डिवाइडर पर बैठी थीं। तभी झज्जर की तरफ से आ रहे डंपर (एचआर 55 N-2287) ने टक्कर मार दी, जिसमें उक्त तीनों की मृत्यु हो गई व गुरमेल कौर पत्नी मेहर सिंह उम्र करीब 60 वर्ष के पैर में फ्रैक्चर हो गया, जिसे सामान्य अस्पताल बहादुरगढ़ से पीजीआईएमएस रोहतक रेफर किया गया है। पुलिस इस मामले की छानबीन में जुटी है।

 

 

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

बच्चों को देखिए, बच्चे बन जाइए

बच्चों को देखिए, बच्चे बन जाइए

अलोपी देवी, ललिता देवी, कल्याणी देवी

अलोपी देवी, ललिता देवी, कल्याणी देवी

निष्ठा और समर्पण का धार्मिक सामंजस्य

निष्ठा और समर्पण का धार्मिक सामंजस्य

सातवें साल ने थामी चाल

सातवें साल ने थामी चाल

... ताकि आप निखर-निखर जाएं

... ताकि आप निखर-निखर जाएं