सरकार से समझौते के बाद किसानों ने समेटा शामियाना : The Dainik Tribune

सरकार से समझौते के बाद किसानों ने समेटा शामियाना

सरकार पहले मान जाती तो नहीं मचता कोहराम : कांग्रेस

सरकार से समझौते के बाद किसानों ने समेटा शामियाना

करनाल में शनिवार को प्रशासन के साथ हुए समझौते बारे किसानों काे जानकारी देते भाकियू अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढ़ूनी।

करनाल, 11 सितंबर (हप्र)

कांग्रेस ने कहा कि मनोहर सरकार अगर पूर्व सीएम हुड्डा की सलाह पहले ही मान लेती तो करनाल में पांच दिन तक कोहराम नहीं मचता। कांग्रेस के जिला संयोजक त्रिलोचन सिंह ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने सरकार से पहले ही कहा था कि बसताड़ा में लाठीचार्ज की न्यायिक जांच रिटायर्ड हाइकोर्ट के जज से करवाये। उन्होंने कहा कि सरकार और किसानों के बीच जिस तरह से समझौता हुआ है, वह राहत की बात है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल सरकार की हठधर्मिता की वजह से पांच दिन तक किसान करनाल में पड़े रहे। शहर के लोगों को करोड़ों का नुकसान हुआ, चार दिन तक इंटरनेट बन्द रहा।

शामियाना उतारते किसान और नीचे किसानों के लिए लंगर व्यवस्था करते सेवादार, समझौते के बाद जश्न मनाते वापस लौटते किसान। 

उधर, किसान सभा हरियाणा राज्य कमेटी ने करनाल में पांच दिन से चल रहे आंदोलन की जीत होने पर आंदोलनकारी किसानों को बधाई दी है। इस अवसर पर अखिल भारतीय किसान सभा के राष्ट्रीय वित्तसचिव कृष्ण प्रसाद, राज्य प्रधान फूल सिंह श्योकंद, उपप्रधान इंद्रजीत सिंह, राज्य कार्यकारी सचिव सुमित सिंह, मास्टर शेर सिंह व किसान सभा के अनेक कार्यकर्ता मौजूद रहे।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

ओटीटी पर सेनानियों की कहानियां भी

ओटीटी पर सेनानियों की कहानियां भी

रुपहले पर्दे पर तनीषा की दस्तक

रुपहले पर्दे पर तनीषा की दस्तक

पंजाबी फिल्मों ने दी हुनर को रवानगी

पंजाबी फिल्मों ने दी हुनर को रवानगी

आस्था व प्रकृति के वैभव का पर्व

आस्था व प्रकृति के वैभव का पर्व

मुख्य समाचार