कैथल के पाई गांव के पास सड़क हादसे में 6 की मौत, एक बच्चे सहित 4 लोग घायल

2 कारों की भीषण टक्कर, मरने वालों में दम्पति भी शामिल

कैथल के पाई गांव के पास सड़क हादसे में 6 की मौत, एक बच्चे सहित 4 लोग घायल

हादसे में क्षतिग्रस्त एक कार। -निस

ललित शर्मा/हप्र

कैथल, 30 नवंबर

गांव पाई के पास 2 कारों की भीषण टक्कर में 6 लोगों की मौत हो गयी तथा एक 6 साल के बच्चे सहित चार लोग घायल हो गए। मृतकों में से एक कार के 4 और दूसरी कार में सवार दो लोग हादसे का शिकार हुए हैं। घायलों को नागरिक अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। जानकारी के अनुसार मंगलवार सुबह गांव पाई के नजदीक दो कारों की आमने-सामने की टक्कर हो गई। इनमें से एक आई-20 कार जींद में बारात से वापस लौट रही थी जिसमें छह लोग सवार थे। इधर दूसरी स्विफट डिजायर कार दबखेड़ी जिला कुरुक्षेत्र से गांव मल्हार सफीदों की तरफ जा रही है। जब ये दोनों कारें गांव पाई स्थित एक निजी स्कूल के पास पहुंची तो दोनों में भीषण टक्कर हो गई। टक्कर इतनी भयंकर थी कि जोरदार धमाके के साथ दोनों कारों के परखचे उड़ गए। जींद से पूंडरी लौट रही गाड़ी में सवार 6 लोगों में से चार लोगों की मौत हो गयी जिनमें कार चालक सत्यम (26) निवासी सिलकपुर बरेली, रमेश कुमार (55) निवासी पूंडरी, अनिल (55) निवासी नरवाना तथा शिवम (20) निवासी सातरोड हिसार शामिल हैं।

इस कार में सतीश निवासी पूंडरी व बलराज निवासी नरवाना गंभीर रूप से जख्मी हुए हैं। इसी प्रकार दबखेड़ी से आ रही कार में विनोद (34) निवासी महलहार और उसकी पत्नी राजबाला (27) की मौत हो गई। इस कार में सवार विराज उर्फ आशु व सोनिया घायल हो गए। टक्कर लगने के बाद मौके पर भारी संख्या मेंं लाग इकट्ठे हो गए। उन्होंने कारों में से घायलों और मृतकों को निकाला और अस्पताल पहुंचाया। हादसे की सूचना पाकर पूंडरी थाना प्रभारी शिव कुमार अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस ने मृतकों के परिजनों को घटना के बारे में सूचित किया। इस बारे में सतीश निवासी पूंडरी की शिकायत पर केस दर्ज किया गया है।

क्या कहते हैं थाना प्रभारी

पूंडरी थाना प्रभारी शिवकुमार ने बताया कि उन्हें उपरोक्त हादसे बारे शिकायत मिली है। शिकायत के आधार पर धारा 279, 304-ए, 337, 338 आईपीसी के तहत केस दर्ज कर दिया गया है। मामले की जांच की जाएगी और नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि मृतकों का पोस्टमार्टम करवाकर उनके परिजनों को सौप दिया गया है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

अन्न जैसा मन

अन्न जैसा मन

कब से नहीं बदला घर का ले-आउट

कब से नहीं बदला घर का ले-आउट

एकदा

एकदा

बदलते वक्त के साथ तार्किक हो नजरिया

बदलते वक्त के साथ तार्किक हो नजरिया

मुख्य समाचार