व्यवस्था परिवर्तन या क्रांतिकारी बदलाव को समझने में लगती है देर

व्यवस्था परिवर्तन या क्रांतिकारी बदलाव को समझने में लगती है देर

गुरुग्राम, 20 सितंबर (हप्र)

हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा, ‘व्यवस्था परिवर्तन के लिए जब कोई भी क्रांतिकारी बदलाव लाया जाता है तो लोगों को समझने में देर लगती ही है, कृषि कानूनों के मामले में भी ऐसा ही हो रहा है। एनडीए की नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने विपक्षियों के पास राजनीति का कोई मुद्दा नहीं छोड़ा इसलिए विपक्षी दल किसानों को बरगला कर राजनीति चमकाने का प्रयास कर रहे हैं।’

वे रविवार को यहां पत्रकारों से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के कार्यकाल में पांच मुख्यमंत्रियों की कमेटी ने भी इन विधेयकों के मसौदे की सिफारिश की थी। इस कमेटी के अध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री एवं नेता विपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा थे। लेकिन इच्छा शक्ति की कमी के कारण कांग्रेस इन सिफारिशों को लागू नहीं कर पाई और सोचती रह गई। अब इन्हें भाजपा ने कर दिखाया है। इन विधेयकों को सभी पार्टियां लागू करना चाहती थी। अब एनडीए सरकार ने कांग्रेस सहित सभी राजनीतिक दलों को सकते में डाल दिया। उन्होंने दावा किया कि विधेयकों से किसानों की जिंदगी बदलने वाली है, उन्हें बिचौलियों से मुक्ति मिलेगी।

कृषि मंत्री ने कहा कि संयुक्त पंजाब के समय दीनबंधु सर छोटू राम ने किसानों की भलाई के लिए जो कदम उठाए थे, ये तीनों कृषि विधेयक उससे भी ज्यादा किसानों के लिए लाभकारी साबित होंगे। उन्होंने कहा कि आज किसान संगठनों ने सड़क जाम करने के ऐलान का समर्थन नहीं किया। बल्कि कुछ कांग्रेस समर्थित संगठनों ने ही इसमें भाग लिया। देश का किसान सब देख रहा है और यह भलीभांति समझता है कि कौन किसान हितैषी है और कौन नहीं। आज किसान हितैषी होने का स्वांग रचने वाली कांग्रेस ने हमेशा बिचौलियों का साथ दिया और यह बिचौलियों की ही पार्टी बन कर रह गई।

विपक्ष की आदत है अच्छे कार्यों में रोड़ा अटकाना : विज

चंडीगढ़ (ट्रिन्यू): गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि विपक्ष हमेशा अच्छे कामों में रोड़ा अटकाने का काम करता है। उन्होंने कहा कि नए कृषि कानून किसानों की भलाई के लिये हैं। कांग्रेस पार्टी ने भी अपने घोषणा पत्र में इनका जिक्र किया था। अब भाजपा ने किसानों के लिए ये बिल पास कराए हैं। कांग्रेस इसका स्वागत करने की बजाय, विरोध करते हुए किसानों को गुमराह कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों को कहा है कि वे विरोध कर सकते हैं, लोकतंत्र में सबको इसका अधिकार है। उन्होंने कहा, आज स्थिति सामान्य नहीं है, महामारी फैली हुई है। मरीजों के साथ-साथ दवाइयां लाना आवश्यक है, इसलिये किसान रास्ते जाम न करें। कांग्रेस पार्टी ने हमेशा किसानों के नाम पर प्रदेश में अराजकता फैलाने का काम किया है, लेकिन किसान व जनता समझदार है, वह उनकी झूठी बातों में नहीं आएगी।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

शहर

View All