आईएमटी सोहना बनेगा इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी डेस्टिनेशन

आईएमटी सोहना बनेगा इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी डेस्टिनेशन

गुरुग्राम, 23 जून (निस)

हरियाणा राज्य औद्योगिक अवसंरचना विकास निगम (एचएसआईआईडीसी) ने आईएमटी सोहना को इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी इंडस्ट्री के लिए डेस्टिनेशन के रूप में विकसित करने की योजना तैयार की है।

औद्योगिक विकास निगम द्वारा 1500 एकड़ भूमि पर आईएमटी सोहना विकसित की जा रही है।  यह केएमपी एक्सप्रेस-वे के नज़दीक है। आईएमटी सोहना वाली भूमि दिल्ली-मुंबई-वडोदरा एक्सप्रेस-वे से भी 9 किलोमीटर की दूरी पर है। आईएमटी सोहना की 1500 एकड़ भूमि में से 500 एकड़ भूमि को इलैक्ट्रॉनिक मैन्युफैक्चर क्लस्टर के रूप में विकसित किया जा रहा है तथा इस दिशा में काम करते हुए 178 एकड़ भूमि मेसर्स एटीएल बैटरी टेक्नोलॉजी इंडिया को अलॉट की जा चुकी है। इस कंपनी ने निर्माण कार्य शुरू कर दिया है और 1150 करोड़ रुपये का निवेश कर चुकी है।

एचएसआईआईडीसी की इस योजना को लेकर चीफ कोऑर्डिनेटर इंडस्ट्रीज सुनील शर्मा ने जाने-माने उद्योगपतियों के साथ उद्योग विहार स्थित निगम कार्यालय में बैठक की। बैठक में एटीएल बैटरी, ल्यूमैक्स, टीडीके, टौरगस टेक्नोलॉजिस, अलाइट एयरफ्लो, विंडसॉर टेक्नोलॉजिस, ल्यूमिनस, सूकॉम, डेल्टा इलेक्ट्रॉनिक्स तथा वीवीडीएन के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

चीफ़ कोऑर्डिनेटर ने बैठक में योजना को लेकर अपना विजन उनके समक्ष रखा और हरियाणा सरकार द्वारा उद्योगों को प्रोत्साहित करने के लिए चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के बारे में बताया और भविष्य की रूपरेखा रखी। सुनील शर्मा के अनुसार बैठक में उपस्थित कई उद्यमियों ने वहाँ पर अपने नये उद्यम स्थापित करने की इच्छा भी जताई है।

टौरगस टेक्नोलॉजिस से कर्नल बलविंदर ने भारत सरकार द्वारा हाल ही में शुरू की गई अग्निपथ योजना के बारे में भी चर्चा करते हुए अवगत करवाया कि इस योजना से उद्योगों को लाभ होगा और उन्हें प्रशिक्षित, भरोसेमंद और अनुशासित मैनपावर उपलब्ध होगी। 

इंडस्ट्री लीडर्स के साथ जल्द होगी एक और बैठक

सुनील शर्मा ने बताया कि एचएसआईआईडीसी जल्द ही इंडस्ट्री लीडर्स तथा प्रदेश सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक और बैठक करने की योजना बना रहा है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

योगमय संयोग भगाए सब रोग

योगमय संयोग भगाए सब रोग

जीवन के लिए साझे भविष्य का सपना

जीवन के लिए साझे भविष्य का सपना

यमुनानगर तीन दर्जन श्मशान घाट, गैस संचालित मात्र एक

यमुनानगर तीन दर्जन श्मशान घाट, गैस संचालित मात्र एक