सीएम फ्लाइंग ने किया भंडाफोड़

फर्जी काॅल सेंटर में यूएसए के नागरिकों से करोड़ों की ठगी

फर्जी काॅल सेंटर में यूएसए के नागरिकों से करोड़ों की ठगी

गुरुग्राम में शनिवार को फर्जी काॅल सेंटर पर छापेमारी के दौरान जांच करती मुख्यमंत्री उड़नदस्ते की टीम। -हप्र

गुरुग्राम, 8 अगस्त (हप्र)

यूएसए में बैठे कंप्यूटर उपभोक्ताओं के साथ आॅनलाइन ठगी करने वाले एक फर्जी काॅल सेंटर का मुख्यमंत्री उड़नदस्ते ने भंडाफोड़ किया है। काॅल सेंटर के मालिक की गिरफ्तारी के साथ-साथ यहां से कई कंप्यूटर, लैपटाॅप व हार्ड डिस्क भी बरामद किए गए हैं। आशंका है कि अब आरोेपी करोड़ों रुपये की ठगी कर चुके हैं। पुलिस गिरफ्तार आरोपी से पूछताछ कर रही है।

मुख्यमंत्री उड़नदस्ते के डीएसपी इंद्रजीत सिंह को सूचना मिली थी कि एक फर्जी काॅल सेंटर के जरिये यूएसए के लोगों से ठगी की जा रही है। इस सूचना पर कार्रवाई करते हुए दस्ते ने सोहना रोड स्थित जेएमडी मेगापाॅलिस माॅल की पांचवीं मंजिल पर स्थित ग्रीन राॅक इंटरप्राइजेज में रेड की। इस दौरान पुलिस की टीम को काॅल सेंटर में करीब 25 युवक-युवतियां काॅलिंग करते हुए मिले। पुलिस की टीम ने जब काॅल सेंटर के मालिक विक्रम वर्मा से काॅल सेंटर चलाने की अनुमति से संबंधित दस्तावेज मांगे तो वह कोई कागज पुलिस के समक्ष प्रस्तुत नहीं कर सका। 

एंटी वायरस समाप्त होने का भेजते थे मैसेज

पुलिस की टीम ने जांच पड़ताल में पाया कि पाॅपएप के जरिये यूएसए के कंप्यूटर उपभोक्ताओं को उनका एंटी वायरस समाप्त हो जाने सहित दूसरे प्रकार के मैसेज भेजते तथा संबंधित व्यक्ति से संपर्क हो जाने पर उसके साथ ठगी कर लेते थे। ये कंप्यूटर पर अपने ही द्वारा भेजे जाने वाले पाॅपएप्स को हटाने के लिए डाॅलर में पैसे लेते थे। इंस्पेक्टर कृष्ण कुमार के अनुसार काॅल सेंटर में 38 कंप्यूटर व लैपटाॅप चलाए जा रहे थे। इनमें से 4 कंप्यूटर सीपीयू व इतने ही लैपटाॅप को जब्त किया गया है। 

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

डिजिटल पेमेंट में सट्टेबाजी पर लगे लगाम

डिजिटल पेमेंट में सट्टेबाजी पर लगे लगाम

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश