अहीर रेजिमेंट को लेकर बवाल

वाहन चालकों को पीटा, गाड़ियों के तोड़े शीशे

5 घंटे ठप रहा दिल्ली-जयपुर हाईवे। हुड़दंगियों के खिलाफ केस दर्ज

वाहन चालकों को पीटा, गाड़ियों के तोड़े शीशे

गुरुग्राम में रविवार को अहीर रेजिमेंट की मांग को लेकर दिल्ली-जयपुर हाईवे पर लगाया गया जाम। -निस

गुरुग्राम, 15 मई (निस/हप्र)

सेना में अहीर रेजिमेंट की मांग के लिए लंबे समय से धरना प्रदर्शन कर रहे संघर्ष समिति ने राष्ट्रीय राजमार्ग दिल्ली-जयपुर जाम कर दिया। लगभग 5 घंटे तक हाईवे सहित शहर के चारों तरफ के रास्ते जाम रहे। आरोप है कि दिल्ली-जयपुर के बीच आने-जाने वाले कुछ वाहन चालकों ने जब निकलने की कोशिश की तो उनके साथ मारपीट की गई। एक पीड़ित महिला ने जाम लगा रहे लोगों के खिलाफ पुलिस को शिकायत दी है। उसका कहना है कि आंदाेलनकारियों ने उसकी गाड़ी के शीशे तोड़ दिये। आरोप है कि पुलिस वैकल्पिक प्रबंध कर रही थी, लेकिन आंदोलनकारियों को कहीं भी रोका नहीं गया। उन्हें हाईवे के दोनों तरफ मनमर्जी करने दी गई। वाहनों में सवार आंदोलनकारी नारे लगाते हुए हाईवे पर रांग साइड आ-जा रहे थे। मामले में पुलिस ने महिला की शिकायत पर हुड़दंग करने वालों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

रास्ता ढूंढ़ते रहे चालक : पुलिस बल के जवान सड़क पर दिखाई तो दे रहे थे, लेकिन जगह-जगह फंसे हुए वाहनों को रेंगते रेंगते निकलने के लिए खुद ही जुगाड़ करना पड़ रहा था। पिछले कई दिनों से आंदोलनकारियों ने दिल्ली-जयपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर जुलूस निकालने और प्रदर्शन करने का घोषणा की हुई थी, लेकिन जिला पुलिस ने उस हिसाब से प्रबंध नहीं किए थे। लोगों को इधर-उधर से निकालने के प्रबंध तो करते दिखे लेकिन इन्हें रोकने का कोई प्रयास नहीं किया। वहीं, गुड़गांव का टोल आज ठप कर दिया गया। आंदोलन को समर्थन देने पहुंचे कुछ नामी नेता तो धरनास्थल पर भाषणबाजी करके निकल गए। उसके बाद अहीर रेजिमेंट की मांग वाले बैनर लेकर युवा गाड़ियों के ऊपर बैठकर दोनों तरफ निकल पड़े। इससे दोनों ओर के रास्ते अस्त-व्यस्त हो गये। उनके इस कृत्य की लोगों ने निंदा की।

मांग रहे अपना हक

अहीर रेजिमेंट जन अधिकार यात्रा (खेडकी दौला से इफ्को चौक गुरुग्राम तक) अपना समर्थन देने पहुंचे बदलाव एक शुरुआत संस्था के संस्थापक और अध्यक्ष सुभाष यादव भारतीय ने बताया कि अहीर रेजिमेंट की मांग यादव समाज की वर्षों पुरानी मांग है। यादव समाज अपने देश के लिए अपने वीर सैनिकों के बलिदानों का हक मांग रहा है। जिस प्रकार से जाट रेजिमेंट, राजपूत रेजिमेंट, गोरखा रेजिमेंट बनी हैं उसी प्रकार से एक अहीर रेजिमेंट भी बननी चाहिए।

चूल्हा-चौका छोड़ बड़ी संख्या में धरने पर पहुंची महिलाएं

अहीर रेजिमेंट के गठन की मांग को लेकर कोसली स्थित सैनिक विश्राम गृह में चल रहे धरने को समर्थन देने भारी संख्या में ग्रामीण पहुंचने लगे हैं। इनमें बड़ी संख्या महिलाओं की भी है। ये महिलाएं घर के कामकाज व चूल्हा चौका छोड़कर यहां पहुंची। अहीर रेजिमेंट संघर्ष समिति द्वारा दिए जा रहे धरने पर रविवार को शक्ति प्रदर्शन का एेलान किया गया था। इसके तहत आसपास के गांवों से भारी संख्या में लोग मांग का समर्थन करने पहुंचे। समिति के मार्गदर्शक राव अजीत सिंह ने कहा कि धरने पर रेवाड़ी के साथ-साथ अन्य जिलों से भी लोग पहुंच रहे हैं। इससे यह साबित होता है कि क्षेत्र के लोगों के मन में रेजिमेंट गठन को लेकर कितना उत्साह है।

समर्थन में भिवानी से साइकिल यात्रा रवाना

भिवानी (हप्र) : अहीर रेजीमेंट स्थापना की मांग के समर्थन में नंदगांव के युवा नरेंद्र यादव ने अपनी दूसरी साइकिल यात्रा शुरू की। नरेंद्र साइकिल से कोसली-चंडीगढ़ होते हुए वाघा बॉर्डर जाएंगे। रविवार को यहां हांसी गेट चौक पर आयोजित कार्यक्रम में वरिष्ठ कांग्रेस नेता अमर सिंह हालुवासिया ने हरी झंडी दिखाकर नरेंद्र यादव की साइकिल यात्रा को रवाना किया। उन्होंने नरेंद्र यादव के प्रयासों की तारीफ की और कहा कि सेना में अहीर रेजीमेंट की मांग जायज मांग है। इस अवसर पर सहकारी बैंक समिति के निदेशक कृष्ण लेघां, कांग्रेस नेता दिलबाग नीमड़ी, अशोक ढोला, डा़ विवेक भारद्वाज, विनय परमार, नेत्रपाल तंवर, नरेंद्र डोकबाल, नरेश जांगड़ा, ईश्वर पंच, हवलदार कुलदीप यादव, बिजेंद्र यादव, विकास यादव, उमेद यादव आदि मौजूद रहे।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

योगमय संयोग भगाए सब रोग

योगमय संयोग भगाए सब रोग

जीवन के लिए साझे भविष्य का सपना

जीवन के लिए साझे भविष्य का सपना

यमुनानगर तीन दर्जन श्मशान घाट, गैस संचालित मात्र एक

यमुनानगर तीन दर्जन श्मशान घाट, गैस संचालित मात्र एक

ग्रामीणों ने चंदे से बना दिया जुआं में आदर्श स्टेडियम

ग्रामीणों ने चंदे से बना दिया जुआं में आदर्श स्टेडियम

शहर

View All