कर्फ्यू शुरू होने से पहले निपटाने होंगे बैंड, बारात

कर्फ्यू शुरू होने से पहले निपटाने होंगे बैंड, बारात

गुरुग्राम, 13 अप्रैल (हप्र)

शादियों के सीजन पर अब फिर से कोरोना का कहर बरपेगा। 22 अप्रैल से शुरू हो रही शादियों की तैयारियों में जुटे लोगों को अपने कार्यक्रम रि-शेड्यूल करने पड़ेंगे। प्रदेश सरकार द्वारा लगाए गए नाईट कर्फ्यू में शादियों समेत दूसरे तमाम आयोजनों को कोई छूट नहीं दी गई है। इस फैसले से बैंक्वेट हाॅल संचालक मायूस हैं। 22 अप्रैल से पुनः शादियों का सीजन आरंभ हो रहा है। लोगों ने शादियों के लिए ग्रेंड आयोजन की तैयारियां कर रखी हैं लेकिन ये प्रतिबंधों के दायरे में आ गए हैं। नियमानुसार रात 10 बजे से पहले ही सारे कार्यक्रम निपटाने होंगे। मेहमानों की संख्या ध्यान में रखनी पड़ेगी और कोविड प्रोटोकाॅल्स की पालना भी करनी होगी। अधिकतम 500 लोगों को ही खुले में एकत्रित होने की अनुमति है। बेटी की शादी की तैयारी कर रहे सुशांत लोक 2 के निवासी प्रकाश यादव कहते हैं कि शादी के लिए होटल बुक किया था लेकिन नई गाइडलाइन के बाद पूरा कार्यक्रम रि-शेड्यूल करना पड़ेगा। बैंक्वेट हाॅल व टेंट डीलर्स एसोसिएशन के अनिल यादव कहते हैं कि लोगों ने एडवांस बुकिंग कर रखी हैं लेकिन नाईट कर्फ्यू से उम्मीदों पर पानी फिर गया। वह कहते हैं कि शीघ्र इस विषय पर बैठक के बाद कोई फैसला लिया जाएगा।

किसी भी सामाजिक, राजनीतिक या दूसरे कार्यक्रमों को नाईट कर्फ्यू में कोई छूट नहीं दी गई है। जो भी आयोजन होंगे उन्हें तय समय से पहले ही निपटाना होगा। सख्ती से पालना के लिए संबंधित क्षेत्रों के एसएचओ की जिम्मेदारी लगाई गई है। -डाॅ़ यश गर्ग, डीसी-गुरुग्राम

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

संतोष मन को ही मिलता है सच्चा सुख

संतोष मन को ही मिलता है सच्चा सुख

इस जय-पराजय के सवाल और सबक

इस जय-पराजय के सवाल और सबक

आखिर मजबूर क्यों हो गये मजदूर

आखिर मजबूर क्यों हो गये मजदूर

जीवन में अच्छाई की तलाश का नजरिया

जीवन में अच्छाई की तलाश का नजरिया

नुकसान के बाद भरपाई की असफल कोशिश

नुकसान के बाद भरपाई की असफल कोशिश

अनाज के हर दाने को सहेजना जरूरी

अनाज के हर दाने को सहेजना जरूरी