गांव-मिट्टी से जुड़े शो का नया सफर

गांव-मिट्टी से जुड़े शो का नया सफर

मुंबई : गांव और मिट्टी से जुड़े शो की लोकप्रियता हमेशा ही ज्यादा रही। आज भी लोग चाहे कहीं भी रह रहे हों, लेकिन उन्हें ऐसे शो पसंद हैं। इस संबंध में आजाद चैनल के नये शुरू हो रहे हैं। इनमें प्रमुख हैं-मेरी डोली मेरे अंगना और पवित्र भरोसे का सफर। ये शो सोमवार से शनिवार के बीच रात 9 और 9:30 बजे होंगे। बताया गया कि 'हमारी मिट्टी हमारा आसमान' की ब्रांड विचारधारा के अनुरूप जनता से जुड़ने और उन्हें शामिल करने के लिए इन शोज़ की थीम तैयार की गई है।

आज़ाद के पहले ओरिजिनल शो का शीर्षक है मेरी डोली मेरे अंगना। टेल-ए-टेल मीडिया के प्रसिद्ध निर्माताओं, जितेंद्र गुप्ता और महेश तागड़े द्वारा निर्मित है यह। यह शो बिठूर की पृष्ठभूमि पर आधारित है, जहां पूरा सिंह परिवार, खासकर उनके पिता, बेटी को अपनी आंखों का तारा मानते हैं। यह आज के ग्रामीण परिवार की कहानी है, जो परिवार के आपसी संबंधों की खूबसूरती और उलझनों को दर्शाती है। कुछ परिस्थितियों के कारण ये रिश्ते बदल जाते हैं और इससे हमारी नायिका के जीवन पर भी गहरा काफी प्रभाव पड़ता है। अपनी शादी के बाद, उसे पता चलता है कि पुराने सामाजिक कायदे, जहां एक बेटी और बहू में फर्क किया जाता है, अब भी मौजूद हैं। यह शो जानकी के एक गैर-अनुभवी और मासूम बेटी से एक अनुभवी बहू बनने का सफर है, जो अपनी शादी के बाद मुश्किल स्थितियों और बदलते हालातों को संभालना सीखती है। आस्था अभय ने जानकी का मुख्य किरदार निभाया है और उनके अलावा सुरेंद्र पाल, रुद्राक्षी गुप्ता और अंकित रायज़ादा ने भी महत्वपूर्ण भूमिकाएं निभाई हैं।

आज़ाद के दूसरे शो का शीर्षक है पवित्र भरोसे का सफर और इसे पार्थ प्रोडक्शन के जाने-माने प्रोड्यूसर संतोष सिंह, रोशेल सिंह और पर्ल ग्रे ने प्रोड्यूस किया है। मेरठ की पृष्ठभूमि पर आधारित यह पारिवारिक ड्रामा, गांव प्रेमियों के साथ जुड़ता है, क्योंकि यह महिला सशक्तिकरण को प्रोत्साहित करने और सामाजिक समस्याओं से जूझने पर केन्द्रित है, साथ ही दो अलग-अलग इंसानों की एक भावुक प्रेम कहानी भी है। इसमें पवित्रा की भूमिका शैली प्रिया ने निभाई है और अन्य कलाकारों में नीलू वाघेला, कुमार राजपूत और शीज़ान मोहम्मद शामिल हैं।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

शह-मात का खेल‌‍

शह-मात का खेल‌‍

इंतजार की लहरों पर सवारी

इंतजार की लहरों पर सवारी

पद के जरिये समाज सेवा का सुअवसर

पद के जरिये समाज सेवा का सुअवसर

झाझड़िया के जज्बे से सोने-चांदी की झंकार

झाझड़िया के जज्बे से सोने-चांदी की झंकार

बीत गये अब दिखावे के सम्मोहक दिन

बीत गये अब दिखावे के सम्मोहक दिन

जीवन पर्यंत किसान हितों के लिए संघर्ष

जीवन पर्यंत किसान हितों के लिए संघर्ष

रिश्तों की कुंडली का दशम ग्रह दामाद

रिश्तों की कुंडली का दशम ग्रह दामाद