अब पुरुषों के लिए भी ब्रेस्ट कैंसर का खतरा : The Dainik Tribune

सेहत

अब पुरुषों के लिए भी ब्रेस्ट कैंसर का खतरा

हर साल एक प्रतिशत पुरुष आ रहे चपेट में

अब पुरुषों के लिए भी ब्रेस्ट कैंसर का खतरा

विवेक शर्मा

ब्रेस्ट कैंसर। सुनते ही लोगों को लगता है कि महिलाएं ही इसकी चपेट में आती हैं, ऐसा नहीं है। पुरुषों में भी ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा महिलाओं जितना ही होता है। अब पुरुष भी तेजी से इस मर्ज का शिकार हो रहे हैं। इसका कारण जेनेटिक हो सकता है। यह पुरुषों के लिए खतरे की घंटी है। पीजीआई के पैथालॉजी विभाग की प्रो. राधिका श्रीनिवासन ने बताया कि स्तन कैंसर पुरुषों में ब्रेस्ट के नॉन फंक्शनल मिल्क डक्ट्स, ग्लैंड्स और अन्य टिश्यू में विकसित हो सकता है, लेकिन सबसे बड़ी समस्या यह है कि लोगों को इस बारे में जानकारी ही नहीं है।

आखिरी स्टेज में चलता है पता

पुरुषों के ब्रेस्ट टिश्यू में गांठ या दर्द होने की आशंका कम होने के चलते आखिरी स्टेज पर इसका पता चलता है, जो बेहद गंभीर स्थित है। हर साल लगभग एक प्रतिशत पुरुषों को स्तन कैंसर हो रहा है। पुरुषों में स्तन ऊतक कम होते है, ऐसे में कैंसर उसके आसपास के अंगों में तेजी से फैलता है। महिलाओं में कैंसर को त्वचा पकड़ने में समय लगता है। 5 सेमी तक की गांठ महिलाओं में स्टेज दो कैंसर हो सकती है जबकि पुरुषों में एक सेमी जितनी छोटी गांठ स्टेज तीन हो सकती है। अधिकांश पुरुष रोगी एक समान संक्रमण होने के बावजूद महिला की तुलना में ज्यादा प्रभावित होते हैं। पुरुषों में स्तन कैंसर की सर्जरी महिला स्तन कैंसर से थोड़ी अलग होती है। पुरुषों में स्तन पर सर्जरी का बहुत छोटा सा निशान आता है।

ये हो सकते हैं कारण

पुरुषों में पारिवारिक जीन सहित कई कारणों से ब्रेस्ट कैंसर हो सकता है। मोटापा, क्लीनफेल्टर सिंड्रोम, लिवर सिरोसिस और एस्ट्रोजन हार्मोन का बढ़ना भी इसका कारण हो सकता है। रेडिएशन थेरैपी भी इसका एक कारण हो सकती है। लाइफस्टाइल या कुछ जेनेटिक डिसऑर्डर की वजह से पुरुषों को ब्रेस्ट कैंसर हो सकता है।

ये हैं लक्षण

इसके शुरुआती लक्षणों में छाती में निप्पल के आसपास स्किन का रंग बदलने लगता है। यह लाल रंग का होने लगता है। निप्पल अंदर की ओर मुड़ने लगते हैं और धीरे-धीरे में यह हार्ड होने लगते हैं। इसमें दर्द नहीं होता। इसके अलावा निप्पल से डिस्चार्ज भी होने लगता है। कभी-कभी इससे खून भी निकल सकता है। निप्पल के चारों ओर घाव या दाने की तरह निकलने लगते हैं जो दूर नहीं होते। इसके अलावा ब्रेस्ट पर पपड़ी जम जाना। आर्मपिट और ब्रेस्ट के आसपास सूजन होना या स्किन में खुजली होना।

तुरंत डॉक्टर से करें संपर्क

यदि आपको छाती के आसपास गांठ दिखे या निप्पल का रंग बदलने लगे, तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। छाती के आसपास किसी भी तरह का असामान्य बदलाव ब्रेस्ट कैंसर हो सकता है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

समझ-सहयोग से संभालें रिश्ते

समझ-सहयोग से संभालें रिश्ते

धुंधलाए अतीत की जीवंत झांकी

धुंधलाए अतीत की जीवंत झांकी

प्रेरक हों अनुशासन और पुरस्कार

प्रेरक हों अनुशासन और पुरस्कार

सर्दी में गरमा-गरम डिश का आनंद

सर्दी में गरमा-गरम डिश का आनंद

यूं छुपाए न छुपें जुर्म के निशां

यूं छुपाए न छुपें जुर्म के निशां

फुटबाल के खुमार में डूबा कतर

फुटबाल के खुमार में डूबा कतर

नक्काशीदार फर्नीचर से घर की रंगत

नक्काशीदार फर्नीचर से घर की रंगत

शहर

View All