भविष्य का सपना और मार्केटिंग का डिजिटल मंच

भविष्य का सपना और मार्केटिंग का डिजिटल मंच

कुमार गौरव अजीतेन्दु

आज रोजगार के क्षेत्र में जिस तरह का वातावरण बना है, उसे देखते हुए डिजिटल मार्केंटिंग के लिए अवसर बहुत बढ़ गये हैं। समय इंटरनेट का है और इसलिए कंपनियां भी अपनी एड कैंपेन को इंटरनेट पर ही ज्यादा आगे बढ़ाना चाहेंगी। आज शायद ही कोई कंपनी हो, जो डिजिटल मार्केटिंग की सहायता न ले रही हो। कई कंपनियां तो अपनी बजट का पचास प्रतिशत हिस्सा इस पर खर्च कर रही हैं।

किनके लिए है यह कोर्स

डिजिटल मार्केटिंग के अंतर्गत सोशल मीडिया मार्केटिंग, सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन, पेड एड्स, पीआर ऑनलाइन सोर्सेज, ब्लॉग्स, कंटेंट मार्केटिंग, ईमेल मार्केटिंग, एसएमएस मार्केटिंग आदि आते हैं। प्रिंट, बैनर्स, पोस्टर्स, फ्लायर्स आदि की तुलना में डिजिटल विज्ञापनों की पहुंच कहीं बड़े ऑडियंस तक होती है, क्योंकि कोई भी अपने मोबाइल फोन, लैपटॉप, स्मार्ट टीवी अथवा टैबलेट पर इन विज्ञापनों को देख सकता है। इसलिए अधिकतर कंपनियां अपनी मार्केटिंग रणनीति, इंटरनेट को ध्यान में रखकर बनाती हैं। आने वाले समय में डिजिटल मार्केटिंग एक्सपर्ट्स की अच्छी डिमांड होगी।

क्या करें

आप एमबीए इन डिजिटल मार्केटिंग कर सकते हैं। यह एमबीए इन मार्केंटिंग से थोड़ा अलग है क्योंकि सामान्य एमबीए मार्केटिंग में सभी तरह की मार्केटिंग के बारे में पढ़ाया जाता है लेकिन यहां केवल डिजिटल मार्केटिंग की पढ़ाई होती है। इसमें वेबसाइट्स, सोशल नेटवर्क, गूगल एड, सर्च रिजल्ट आदि के बारे में भी पढ़ाया जाता है। कुछ निजी संस्थान और ऑनलाइन प्लेटफॉर्म तीन से छह महीने के कोर्स के तहत भी डिजिटल मार्केटिंग की ट्रेनिंग देते हैं और अब तो गूगल द्वारा भी फ्री में डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स कराया जा रहा है। बाइस घंटे की अवधि का यह कोर्स पूरी तरह से ऑनलाइन वीडियो ट्यूटोरियल है, जिसे आप अपनी सुविधानुसार घर बैठे कितने भी समय में कर सकते हैं। कोर्स पूरा करने के बाद आपको गूगल की ओर से सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा। यह कोर्स फंडामेंटल्स इन डिजिटल मार्केटिंग नाम से उपलब्ध है।

भरपूर अवसर

लाखों कंपनियां है जो इंटरनेट के जरिए बिजनेस करती हैं और बैंकिंग, टूरिज्म, रीटेल, मीडिया, हॉस्पिटेलिटी आदि कंपनियों को डिजिटल मार्किटिंग मैनेजर की जरूरत पड़ती है। विदेशी कंपनियों में भी जॉब मिलने के चांस हैं। सिस्को के विजुअल नेटवर्किंग इंडेक्स के अनुसार, 2029 तक लगभग 82.9 करोड़ भारतीय प्रतिदिन इंटरनेट का उपयोग करने लगेंगे। इसी से समझा जा सकता है कि डिजिटल मार्केटिंग के क्षेत्र में कितनी संभावनाएं होंगी।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

जो पीड़ पराई जाणे रे

जो पीड़ पराई जाणे रे

व्रत-पर्व

व्रत-पर्व

डिजिटल पेमेंट में सट्टेबाजी पर लगे लगाम

डिजिटल पेमेंट में सट्टेबाजी पर लगे लगाम

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

मुख्य समाचार

शहर

View All