बैंक से 4 करोड़ लेकर फरार हुआ चोर काबू

पंजाब पुलिस के 2 कर्मियों की भूमिका संदिग्ध

बैंक से 4 करोड़ लेकर फरार हुआ चोर काबू

चंडीगढ़ सेक्टर 11 स्थित क्राइम ब्रांच में बुधवार को बरामद करंसी के साथ पुलिस हिरासत में मौजूद एक्सिस बैंक में चोरी करने का आरोपी सुनील कुमार। -नितिन मित्तल

चंडीगढ़/पंचकूला, 14 अप्रैल (नस)

सेक्टर-34 के एक्सिस बैंक से 4 करोड़ 4 लाख रुपए चोरी कर फरार हुए सिक्योरिटी गार्ड सुनील कुमार को बुधवार को चंडीगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।  आरोपी को पुलिस ने मनीमाजरा के नजदीक से काबू कर चोरी किए 4 करोड़ 3 लाख 14 हजार रुपए बरामद किए जबकि आरोपी 87 हजार रुपये  अपनी बाइक पर खर्च कर चुका था। 

क्राइम ब्रांच के एसपी मनोज मीणा ने बताया कि सुनील कुमार एक्सिस बैंक में पिछले 4 सालों से काम कर रहा था और इन दिनों मोहाली के 68  सेक्टर में रह रहा था। वह पंचकूला के एक गांव का रहने वाला था। बैंक में 4 सालों से काम करते हुए वह बैंक के बारे में भलीभांति जानता था।  इसलिए उसने मौका देखकर रविवार की रात को पैसे चोरी किए और मोटरसाइकिल से फरार हो गया। वह घर न जाकर जंगल में छिप गया  जहां पैसे छिपाने के बाद होटलों में जाकर रुकता था। एसपी ने बताया कि किसी भी बैंक में करंसी चैक होता है। इस चैकिंग के चलते  सुनील की ड्यूटी के साथ पंजाब पुलिस के दो पुलिस कर्मियों की सिक्योरिटी में  ड्यूटी थी जो चोरी की रात को बैंक में नहीं थे। दोनों पुलिस कर्मियों की  भूमिका संदिग्ध देखते हुए इसके बारे में पंजाब पुलिस से कर्मियों के बारे  में डिटेल ली जाएगी। उधर, बैंक द्वारा आरबीआई  के नियमों का उल्लंघन करना  भी सामने आया है। पुलिस बैंक से कर्मचारियों से पूछताछ करेगी। एसपी ने  बताया कि आरोपी के पास सेफ की चाबी  कहां से आई और उसका किस-किस ने साथ  दिया इसके बारे में पूछताछ की जा रही है। 

सोशल नेटवर्क से मिली कामयाबी

सुनील कुमार ने 4 करोड़ रुपये की चोरी करने से पहले मोबाइल इस्तेमाल करना बंद कर दिया था। इसलिए पुलिस को सुनील का कोई मोबाइल  रिकार्ड नहीं मिला। हालांकि बैंक से मिली जानकारी के मुताबिक, पुलिस ने उसके सोशल नेटवर्क को खंगालना शुरू किया तो पुलिस उसके जानकारों  तक पहुंच गई। इस दौरान पुलिस उसके सही ठिकाने पर पहुंच गई।  पुलिस को सूचना मिली थी कि आरोपी मनीमाजरा आएगा। सुनील कुमार  का कोई आपराधिक रिकार्ड नहीं है। पुलिस को आरोपी से पता चला है कि उसने फरार होने के बाद एक नया मोबाइल सिम कार्ड खरीदा था जो उसने कहीं छिपा दिया था।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

संतोष मन को ही मिलता है सच्चा सुख

संतोष मन को ही मिलता है सच्चा सुख

इस जय-पराजय के सवाल और सबक

इस जय-पराजय के सवाल और सबक

आखिर मजबूर क्यों हो गये मजदूर

आखिर मजबूर क्यों हो गये मजदूर

जीवन में अच्छाई की तलाश का नजरिया

जीवन में अच्छाई की तलाश का नजरिया

नुकसान के बाद भरपाई की असफल कोशिश

नुकसान के बाद भरपाई की असफल कोशिश

अनाज के हर दाने को सहेजना जरूरी

अनाज के हर दाने को सहेजना जरूरी