चंडीगढ़ की रिद्धिमा ने हासिल किया 74वां रैंक

अनुशासन और सतत तैयारी को बताया सफलता का राज़

चंडीगढ़ की रिद्धिमा ने हासिल किया 74वां रैंक

यूपीएससी परीक्षा के मंगलवार को घोषित परिणाम के मुताबिक 74वां आल इंडिया रैंक हासिल करने वाली रिद्धिमा श्रीवास्तव चंडीगढ़ स्थित अपने घर में माता-पिता के साथ। -प्रदीप तिवारी

चंडीगढ़, 4 अगस्त (ट्रिन्यू)

सिटी ब्यूटीफुल के सेक्टर-24 निवासी रिद्धिमा श्रीवास्तव ने यूपीएससी परीक्षा-2019 पास की है। मंगलवार को घोषित परिणाम के मुताबिक 24 वर्षीय रिद्धिमा ने दूसरे प्रयास में 74वां ऑल इंडिया रैंक प्राप्त किया है। रिद्धिमा ने चंडीगढ़ स्थित पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज से साल 2017 में इंजीनियरिंग में स्नातक की थी। उसके बाद उन्होंने सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी थी।

एकम जे सिंह, 502 वां रैंक

उनका कहना है कि वे खुद को एक एवरेज स्टूडेंट मानती हैं। उन्होंने सिविल सेवा परीक्षा में अपनी सफलता का राज़ अनुशासन और सतत तैयारी को बताया। वे बताती हैं कि वे हररोज 6 से 10 घंटे अध्ययन करती थीं। उनकी माता आईएएस हैं तथा पंजाब में एक विभाग में बतौर प्रधान सचिव कार्यरत हैं। वहीं रिद्धिमा के पिता आईआरएस से सेवानिवृत्त हुए हैं। वहीं एकम जे सिंह को भी एआईआर 502 हासिल हुआ है।

यूपीएससी में 80वां रैंक प्राप्त करने वाली डा. दर्पण आहलूवालिया मंगलवार को मोहाली में अपने परिवार के साथ। -दैनिक ट्रिब्यून

मोहाली की डाॅ. दर्पण आहलूवालिया का 80वां रैंक

मोहाली (निस) : यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन(यूपीएससी) ने सिविल सर्विसेज-2019 का रिजल्ट घोषित कर दिया है। मंगलवार दोपहर को घोषित रिजल्ट के बाद सफल उम्मीदवारों और उनके परिवार वालों को बधाइयों का दौर शुरू हो गया। जानकारी अनुसार मोहाली के फेज 10 निवासी और पेशे से डाॅ. दर्पण अाहलूवालिया ने आॅल इंडिया 80वां रैंक हासिल किया है। वालिया ने पटियाला के राजिंद्रा अस्पताल से एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी की है। दो साल से वह सिविल सर्विसेज की तैयारी में जुटी थीं। बीते साल चयन नहीं होने के बाद भी उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और इस बार आईएएस में चयन हुआ है। डाॅ.दर्पण ने बताया कि परीक्षा में सेल्फ स्टडी और अनुशासन के साथ की गई तैयारी ही फायदा देती है। 

सेक्टर-45 निवासी जसरूप कौर का 144वां स्थान 

चंडीगढ़ के सेक्टर-45 निवासी जसरूप कौर ने भी सिविल सर्विसेज में 144वां रैंक हासिल किया है। जानकारी के अनुसार इस बार ट्राईसिटी से 80 से अधिक युवाओं ने मेन परीक्षा के बाद इंटरव्यू दिया था। 

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

जो पीड़ पराई जाणे रे

जो पीड़ पराई जाणे रे

व्रत-पर्व

व्रत-पर्व

डिजिटल पेमेंट में सट्टेबाजी पर लगे लगाम

डिजिटल पेमेंट में सट्टेबाजी पर लगे लगाम

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

मुख्य समाचार

शहर

View All