नम आंखों से मेजर अनुज राजपूत काे अंतिम विदाई

नम आंखों से मेजर अनुज राजपूत काे अंतिम विदाई

पंचकूला में बुधवार काे शहीद बेटे मेजर अनुज राजपूत का पार्थिव शरीर देखकर फूट-फूटकर रोई मां।

पंचकूला, 22 सितंबर (ट्रिन्यू)

आज यहां मेजर अनुज राजपूत को पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। सुबह लगभग साढ़े 11 बजे मेजर अनुज राजपूत का पार्थिव शरीर पंचकूला पहुंचा। जैसे ही पार्थिव शरीर लेकर वैन सेक्टर 20 की सोसायटी नंबर 104 में पहुंची तो लोगों ने अनुज राजपूत अमर रहे के नारे लगाये। हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता भी अनुज राजपूत को श्रद्धासुमन अर्पित करने पहुंचे। अनुज राजपूत के पार्थिव शरीर को जैसे ही ताबूत से निकाला गया, सभी की आंखें नम हो गईं। हर कोई अनुज की शहादत से दुखी था। इसके बाद सेक्टर 20 के श्मशान घाट में अंतिम संस्कार कर दिया गया। विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने कहा कि 27 वर्ष की आयु में अनुज राजपूत शहीद हो गए। माता-पिता को नमन हैं, जिन्होंने इकलौता बेटा देश को सौंप दिया। ऐसे जवानों पर नाज है।

तिरंगा हाथ में लेते समय पिता की आंखे भी हुई नम।

उल्लेखनीय है कि जम्मू-कश्मीर के पत्नीटॉप में मंगलवार को सेना के हेलीकॉप्टर क्रैश में पंचकूला ने एक महान सपूत खो दिया। मेजर अनुज राजपूत की शहादत की खबर मिलते ही उनकी सोसायटी में रहने वाले लोगों में शोक की लहर दौड़ गई। एडवोकेट केएस आर्य के घर जन्मे अनुज राजपूत अपने माता-पिता की इकलौती संतान थे। अनुज राजपूत की 12वीं तक पढ़ाई चंडीगढ़ में हुई। उसके बाद एनडीए में प्रशिक्षण के लिए देहरादून चले गए थे। वर्ष 2015 में वह मेजर बने। 18 सितंबर को जन्म दिन था। 25 अगस्त को दिल्ली में उनकी सगाई हुई थी और फरवरी में शादी करने की तैयारी में थे।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

‘राइट टू रिकॉल’ की प्रासंगिकता का प्रश्न

‘राइट टू रिकॉल’ की प्रासंगिकता का प्रश्न

शाश्वत जीवन मूल्य हों शिक्षा के मूलाधार

शाश्वत जीवन मूल्य हों शिक्षा के मूलाधार

कानूनी चुनौती के साथ सामाजिक समस्या भी

कानूनी चुनौती के साथ सामाजिक समस्या भी

देने की कला में निहित है सुख-सुकून

देने की कला में निहित है सुख-सुकून

मुख्य समाचार

2 और का सरेंडर, एक गिरफ्तार

2 और का सरेंडर, एक गिरफ्तार

कुंडली बॉर्डर हत्याकांड / आरोपी िनहंग 7 िदन के िरमांड पर

द्रविड़ भारतीय टीम का कोच बनने को तैयार

द्रविड़ भारतीय टीम का कोच बनने को तैयार

गांगुली और शाह ने मनाया, टी20 विश्व कप के बाद नियुक्ति की तै...

मैं पूर्णकालिक अध्यक्ष

मैं पूर्णकालिक अध्यक्ष

सीडब्ल्यूसी बैठक : ‘जी 23’ को सोनिया की नसीहत / मीडिया के जर...