रावण, कुंभकरण के पुतलों के साथ जले पटाखे भी

पुलिस ने दर्ज की 9 एफआईआर, गिरफ्तारी एक की भी नहीं

रावण, कुंभकरण के पुतलों के साथ जले पटाखे भी

आदित्य शर्मा

चंडीगढ़/पंचकूला, 16 अक्तूबर

चंडीगढ़ पुलिस शहर में शुक्रवार को मनाए गए दशहरा पर्व के दौरान समय रहते रावण, कुंभकरण और मेघनाद के पुतले जलने से पहले रोक लेती तो शहर की आबोहवा खराब होने से बच सकती थी।

यूटी प्रशासन ने दशहरे से दो दिन पहले आदेश जारी करते हुए शहर में पटाख़ों के प्रयोग पर तत्काल तौर से अगले आदेश तक पाबंदी लगाई थी।

प्रशासन ने हवा को प्रदूषण से बचाने के मकसद से दशहरा कमेटियों को पटाखे ना जलाने की पहले ही हिदायत जारी कर दी थी लेकिन हैरानी की बात यह है कि प्रशासन के आदेश के बावजूद पुलिस हर समारोह पर मौजूद रहते हुए पुतलों में भरे गए पटाखों जलने से रोक नहीं पाई। जबकि इन समारोहों में कई अधिकारी और शहरी नेता मौजूद रहे। चंडीगढ़ पुलिस ने दशहरा खत्म होते ही पुतलों में जलाए गए पटाखों के बारे में सामने आई शिकायतों के आधार पर अलग-अलग थानों में 9 केस दर्ज कर दिए।

हालांकि अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी। पुलिस पार्टी ने मनीमाजरा में दशहरा मेले के दौरान रावण, कुंभकरण और मेघनाद के पुतले में से पटाख़े निकलवा दिए। जबकि अन्य आयोजकों ने पटाख़े निकालने से इनकार कर दिया। जिस कारण पुलिस ने केस दर्ज करके जांच शुरू कर दी।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

बच्चों को देखिए, बच्चे बन जाइए

बच्चों को देखिए, बच्चे बन जाइए

अलोपी देवी, ललिता देवी, कल्याणी देवी

अलोपी देवी, ललिता देवी, कल्याणी देवी

निष्ठा और समर्पण का धार्मिक सामंजस्य

निष्ठा और समर्पण का धार्मिक सामंजस्य

सातवें साल ने थामी चाल

सातवें साल ने थामी चाल

... ताकि आप निखर-निखर जाएं

... ताकि आप निखर-निखर जाएं

मुख्य समाचार

रिश्वत प्रकरण : हरियाणा सरकार ने एचसीएस अधिकारी अनिल नागर को किया बर्खास्त, आदेश जारी

रिश्वत प्रकरण : हरियाणा सरकार ने एचसीएस अधिकारी अनिल नागर को किया बर्खास्त, आदेश जारी

एचपीएससी उपसचिव रहते हुए डेंटल सर्जन सहित कई पदों के लिए पैस...

शहर

View All