सितंबर तिमाही में यात्री वाहनों की थोक बिक्री 17 प्रतिशत बढ़ी

सितंबर तिमाही में यात्री वाहनों की थोक बिक्री 17 प्रतिशत बढ़ी

नयी दिल्ली, 16 अक्तूबर (एजेंसी)

खरीदारों की धारणा में सुधार तथा त्योहारी मौसम की बढ़ी मांग को पूरा करने की कंपनियों की तैयारी के कारण चालू वित्त वर्ष की सितंबर तिमाही में यात्री वाहनों की थोक बिक्री 17 प्रतिशत बढ़ गयी। वाहन विनिर्माता कंपनियों के संगठन सिआम ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी। सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्यूफैक्चरर्स (सिआम) के ताजे आंकड़ों के अनुसार, जुलाई-सितंबर 2020 की तिमाही में यात्री वाहनों की बिक्री पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि से 17.02 प्रतिशत बढ़कर 7,26,232 इकाई रही। साल भर पहले यह 6,20,620 इकाई रही थी। सितंबर तिमाही के दौरान दोपहिया वाहनों की बिक्री इस वित्त वर्ष में 46,90,565 इकाई रही, जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में 46,82,571 इकाई थी। हालांकि, वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री में इस दौरान 20.13 प्रतिशत की गिरावट देखने को मिली। साल भर पहले सितंबर तिमाही में 1,67,173 वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री हुई थी, जो कम होकर 1,33,524 इकाइयों पर आ गयी। वाणिज्यिक वाहनों की श्रेणी में यी लगातार छठी तिमाही है, जब बिक्री में गिरावट आयी है। इस दौरान तिपहिया वाहनों की बिक्री में 74.63 प्रतिशत की गिरावट आयी। यह बिक्री साल भर पहले सितंबर तिमाही में 1,80,899 इकाई थी, जो कम होकर 45,902 इकाइयों पर आ गयी। सभी श्रेणियों के वाहनों की कुल बिक्री दूसरी तिमाही में मामूली गिरकर 55,96,223 इकाइयों पर आ गयी। सालभर पहले सभी श्रेणियों में 56,51,459 वाहनों की बिक्री हुई थी। सिआम के अध्यक्ष केनिचि आयुकावा ने कहा, ‘दूसरी तिमाही में कुछ श्रेणियों में उबरने के संकेत मिल रहे हैं। यात्री वाहनों और दोपहिया वाहनों में सकारात्मक रुख है, हालांकि इसका कारण पिछले साल बिक्री कम रहना भी है।' उन्होंने कहा कि वाणिज्यिक वाहनों और तिपहिया वाहनों जैसे अधिकांश उद्योग खंडों में बिक्री पांच-छह साल पहले की समान तिमाही के स्तर पर रही है। हालांकि, उद्योग जगत त्योहारी सत्र में बिक्री की संभावनाओं को लेकर आशावान है। आयुकावा ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के बीच में भारतीय वाहन उद्योग पूरी आपूर्ति शृंखला में उपभोक्ताओं व कर्मचारियों की सुरक्षा सुनिश्चित करते हुए मुश्किल परिस्थितियों में उत्पादन व बिक्री बढ़ाने के लिये कड़ी मेहनत कर रहा है। उन्होंने कहा कि वाहन ऋण पर आठ प्रतिशत से नीचे की ब्याज दर से उपभोक्ताओं को नये वाहन खरीदने के लिये प्रोत्साहन मिलना चाहिये। आयुकावा ने कहा कि वाहन उद्योग सरकार की अपेक्षा के हिसाब से वाहनों के निर्यात को दो गुना करने का प्रयास करेगा। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के चलते आने वाले समय में बिक्री का परिदृश्य बता पाना मुश्किल है।

 

 

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

भाषा की कसौटी पर न हो संवेदना की परख

भाषा की कसौटी पर न हो संवेदना की परख

दीवारें भी लगें हैप्पी

दीवारें भी लगें हैप्पी

सर्दियों का गर्मजोशी से करें स्वागत

सर्दियों का गर्मजोशी से करें स्वागत

कार्तिक आर्यन   हैप्पी होगा न्यू ईयर

कार्तिक आर्यन हैप्पी होगा न्यू ईयर

शहर

View All