भारत ने लगाया स्वर्ण पदकों का शतक

काठमांडू में शनिवार को 13वें दक्षिण एशियाई खेलों के भाला फेंक स्पर्धा में कांस्य पदक विजेता भारतीय खिलाड़ी शर्मिला कुमारी (दायें)रजत पदक विजेता श्रीलंकाई खिलाड़ी नादिका लकमाली (बायें) और स्वर्ण विजेता नादीशा दिलहानी (बीच में) के साथ। -एएफपी

काठमांडू, 7 दिसंबर (एजेंसी) भारत ने शनिवार को 13वें दक्षिण एशियाई खेलों के छठे दिन तैराकों और पहलवानों के दमदार प्रदर्शन के बूते पदक तालिका में दबदबा कायम रखा। इसमें वह स्वर्ण पदक के शतकों से 200 का आंकड़ा पार करने में कामयाब रहा। भारतीयों ने शनिवार को 29 स्वर्ण सहित कुल 49 पदक अपनी झोली में डाले जिससे भारत ने मेजबान नेपाल को काफी पीछे कर दिया है। पदक तालिका में भारत 110 स्वर्ण, 69 रजत और 35 कांस्य से कुल 214 पदक लेकर शीर्ष पर है। नेपाल 142 पदक (43 स्वर्ण, 34 रजत और 65 कांस्य) से दूसरे स्थान पर है। श्रीलंका 30 स्वर्ण, 57 रजत और 83 कांस्य से कुल 170 पदक लेकर तीसरे स्थान पर चल रहा है। शनिवार को तैराकों ने भारत को 7 स्वर्ण, एक रजत और एक कांस्य पदक दिलाया जिससे उन्होंने फिर से पूल में दबदबा बरकरार रखा। श्रीहरि नटराज (100 मीटर बैकस्ट्रोक), ऋचा मिश्रा (800 मीटर फ्रीस्टाइल), शिवा एस (400 व्यक्तिगत मेडल), माना पटेल (100 मीटर बैकस्ट्रोक), चाहत अरोड़ा (50 मीटर बैकस्ट्रोक), लिकिथ एसपी (50 मीटर ब्रेस्टस्ट्रोक) और रुजुता भट्ट (50 मीटर फ्रीस्टाइल) ने पहला स्थान हासिल किया। एक वी जयवीना (50 मीटर ब्रेस्टस्ट्रोक) और रिद्धिमा वीरेन्द्र कुमार (100 मीटर बैक स्ट्रोक) ने क्रमशः रजत और कांस्य पदक जीते। इससे भारत की तैराकी स्पर्धा में पदकों की संख्या 30 तक पहुंच गयी। पहले दो दिन तैराकों ने कुल 21 पदक हासिल किये। भारतीय पहलवानों ने भी टूर्नामेंट की शुरूआत शानदार तरीके से की जिन्होंने शुरूआती दिन चार स्वर्ण पदक जीते। सत्यव्रत कादियान (पुरुषों की 97 किग्रा फ्रीस्टाइल), सुमित मलिक (पुरुषों की 125 किग्रा फ्रीस्टाइल), गुरशनप्रीत कौर (महिला 76 किग्रा) और सरिता मोर (महिला 57 किग्रा) सभी ने अपनी स्पर्धाओं में स्वर्ण जीता। राष्ट्रमंडल खेलों के रजत पदकधारी कादियान ने पाकिस्तानी प्रतिद्वंद्वी तबियान खान को जबकि राष्ट्रीय चैम्पियन गुरशनप्रीत ने 7 साल बाद अपना पहला अंतरराष्ट्रीय स्वर्ण जीता। भारोत्तोलकों ने शनिवार को दो स्वर्ण जोड़े जिससे उनकी पदकों की कुल संख्या 10 (नौ स्वर्ण, एक रजत) हो गयी है। शारस्ती सिंह ने 81 किग्रा वजन वर्ग में कुल 190 किग्रा के वजन से पहला स्थान हासिल किया जबकि अनुराधा ने महिलाओं के 87 किग्रा वर्ग में 200 किग्रा के कुल प्रयास से स्वर्ण अपने नाम किया। स्क्वाश में तीन भारतीयों ने फाइनल में पहुंचकर कम से कम एक रजत पदक पक्का कर दिया है। सुनयना कुरूविला और तन्वी खन्ना महिला एकल फाइनल में एक दूसरे की सामने होंगी जबकि हरिंदर पाल सिंधू ने पुरुष एकल स्पर्धा के फाइनल में प्रवेश किया।

काठमांडू में शनिवार को भाला फेंक स्पर्धा में रजत पदक विजेता भारतीय खिलाड़ी शिवपाल सिंह (बायें) स्वर्ण पदक विजेता पाकिस्तान के अरशद नदीम (बीच में) व कांस्य पदक विजेता श्रीलंका के सुमेधा जगथ (दायें) के साथ। -एएफपी

निशानेबाजों का शानदार प्रदर्शन निशानेबाजों ने भी शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए तीन स्वर्ण पदक जीते। अनीश भानवाला ने पुरूषों की 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल स्पर्धा में स्वर्ण जीतने के बाद भाबेश शेखावत और आदर्श सिंह के साथ मिलकर पुरुषों की टीम स्पर्धा का खिताब जीता। मेहुली घोष और यश वर्धन ने 10 मीटर एयर राइफल मिश्रित स्पर्धा में स्पर्धा में दिन का तीसरा स्वर्ण हासिल किया। ट्रैक एवं फील्ड स्पर्धा में 8 पदक भारत ने ट्रैक एवं फील्ड स्पर्धा में 8 पदक जीते, हालांकि इसमें कोई स्वर्ण शामिल नहीं था। राशपाल सिंह (पुरुष मैराथन), मुहम्मद अफजल (पुरुष 800 मीटर), शिवपाल सिंह (पुरुष भाला फेंक) और पुरुषों की 4x400 मीटर रिले टीम ने एक-एक रजत जीता। शेर सिंह (पुरुष मैराथन), ज्योति गावटे (महिला मैराथन), शर्मिला कुमारी (महिला भाला फेंक) और महिलाओं की 4x400 मीटर रिले रेस टीम ने कांस्य पदक जीता। भारत ने इस तरह एथलेटिक्स स्पर्धा का समापन 47 पदक (12 स्वर्ण, 20 रजत और 15 कांस्य) से किया। भारतीय महिला फुटबाल टीम फाइनल में पोखरा (एजेंसी) : अनुभवी बाला देवी के इकलौते गोल की मदद से भारत ने 13वें दक्षिण एशियाई खेलों (सैग) में शनिवार को यहां नेपाल को 1-0 से हराकर फाइनल का टिकट कटाया। बाला देवी ने मैच के 18वें मिनट में गोलकर गत चैम्पियन टीम को बढ़त दिलायी जो मैच खत्म होने तक जारी रही। राउंड रोबिन लीग में टीम की यह लगातार तीसरी जीत है जिससे उसने तालिका में शीर्ष पर रहते हुए फाइनल के लिए क्वालीफाई किया। सोमवार को खेले जाने वाले फाइनल में भारत का सामना एक बार फिर से नेपाल से होगा। भारत ने इससे पहले श्रीलंका को 5-0 और मालदीव को 6-0 से हराया था।

काठमांडू में शनिवार को 42.2 किलोमीटर मैराथन स्पर्धा में भारतीय खिलाड़ी रशपाल सिंह बायें (रजत) शेर सिंह दायें (कांस्य) व स्वर्ण पदक विजेता नेपाल के खिलाड़ी किरन सिंह बोगती (बीच में) के साथ। -एएफपी

सुनयना, तन्वी और हरिंदर ने पक्के किये पदक भारतीय स्क्वाश खिलाड़ी हरिंदर पाल संधू, सुनयना कुरुविला और तन्वी खन्ना ने शनिवार को यहां 13वें दक्षिण एशियाई खेलों (सैग) के एकल वर्ग के फाइनल में पहुंचने के साथ अपने लिए पदक भी पक्के किये। सुनयना ने पाकिस्तान की फैजा जफर, तन्वी ने एक अन्य पाकिस्तानी खिलाड़ी मदिना जफर को शिकस्त दी। पुरुषों के मुकाबले में संधू ने फाइनल में जगह बनायी। 7 मुक्केबाज फाइनल में मनीष कौशिक (64 किग्रा) की अगुआई में 7 भारतीय मुक्केबाजों ने शनिवार को सैग खेलों के फाइनल में प्रवेश किया। कौशिक ने श्रीलंका के पूनाविला विदानालागे को हराया। सचिन सिवाच (56 किग्रा), अंकित खटाना (75 किग्रा), विनोद तंवर (49 किग्रा) और गौरव चौहान (91 किग्रा) पुरूष वर्ग के 4 मुक्केबाज हैं जिन्होंने फाइनल में प्रवेश किया। वहीं, एस कलाईवानी ने महिला 48 किग्रा वर्ग के फाइनल में जगह बनायी।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

मुख्य समाचार

कोविड-19 का टीका बनाने में रूस ने मारी बाज़ी!

कोविड-19 का टीका बनाने में रूस ने मारी बाज़ी!

राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन ने मंगलवार को की घोषणा, अपनी बे...

सुशांत आत्महत्या मामला : रिया की केस ट्रांसफर की याचिका पर फैसला सुरक्षित

सुशांत आत्महत्या मामला : रिया की केस ट्रांसफर की याचिका पर फैसला सुरक्षित

सुप्रीमकोर्ट ने सभी पक्षों से बृहस्पतिवार तक लिखित में मांगे...

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सही दिशा में बढ़ रहा है देश : मोदी

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सही दिशा में बढ़ रहा है देश : मोदी

प्रधानमंत्री ने 10 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से की कोरोना पर...

शहर

View All