भारतीय युवा अंपायर नितिन मेनन आईसीसी के एलीट पैनल में शामिल

दुबई, 29 जून (एजेंसी) भारत के युवा अंपायर नितिन मेनन को इंगलैंड के नाइजेल लोंग की जगह 2020-21 सत्र के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के अंपायरों के एलीट पैनल में शामिल किया गया। 36 साल के मेनन को 3 टेस्ट, 24 एकदिवसीय और 16 टी20 अंतरराष्ट्रीय में अंपायरिंग का अनुभव है। वह इस सूची में जगह बनाने वाले पूर्व कप्तान श्रीनिवास वेंकटराघवन और सुंदरम रवि के बाद तीसरे भारतीय है। रवि को पिछले साल इससे बाहर कर दिया गया था। आईसीसी से जारी बयान में मेनन ने कहा, ‘एलीट पैनल में नाम होना मेरे लिए बहुत सम्मान और गर्व की बात है। दुनिया के प्रमुख अंपायरों और रेफरियों के साथ-साथ नियमित रूप से काम करने का मेरा हमेशा से सपना रहा है।’ मेनन ने 22 साल की उम्र में प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेलना छोड़ दिया था और 23 साल की उम्र में वह सीनियर अंपायर के तौर पर बीसीसीआई से मान्यता प्राप्त मैचों में अंपायरिंग करने लगे थे। आईसीसी के महाप्रबंधक (क्रिकेट) ज्योफ अलार्डिस (अध्यक्ष), पूर्व खिलाड़ी और कमेंटेटर संजय मांजरेकर और मैच रेफरियों रंजन मदुगले एवं डेविड बून की चयन समिति ने मेनन का चुनाव किया। मेनन इससे पहले अंपायरों के अमीरात आईसीसी अंतरराष्ट्रीय पैनल का हिस्सा थे। विश्व स्तर पर भारतीय अंपायरिंग की काफी आलोचना हुई है लेकिन इस दौरान मेनन का प्रदर्शन अच्छा रहा है। कोरोना महामारी के कारण आईसीसी ने स्थानीय अंपायरों के इस्तेमाल की योजना बनाई है जिससे मेनन अगले साल भारत में इंगलैंड के खिलाफ 5 मैचों की टेस्ट शृंखला में मैच अधिकारी की भूमिका निभा सकते है। आईसीसी अगर इस नियम को हटाती है तो वह अगले साल ऑस्ट्रेलिया में एशेज शृंखला में भी अंपायरिग करते दिख सकते हैं।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All