नीरज के साथ हुआ धोखा, जांच हो : परिजन

चरखी दादरी, 3 दिसंबर (निस) टोक्यो ओलंपिक के संभावितों में से एक अंतर्राष्ट्रीय पदक विजेता भारतीय महिला मुक्केबाज नीरज फौगाट ने डोप टेस्ट फेल हो जाने के बाद कुछ भी कहने से मना कर दिया है। वहीं परिजनों का मानना है कि नीरज ऐसा नहीं कर सकती, जरूर उसके साथ धोखा हुआ है। बता दें कि चरखी दादरी के गांव झिंझर की निवासी 25 वर्षीय नीरज फौगाट ने बुल्गारिया में इस साल स्ट्रांजा मेमोरियल टूर्नामेंट में कांस्य और रूस में आयोजित एक टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीता था। नीरज के परिजनों ने डोप टेस्ट फेल होने को धोखा बताया है। नीरज के भाई अमित फौगाट ने बताया कि डोप टेस्ट निगेटिव आने से परिजन खुद चकित हैं। नीरज घी, दूध और चूरमा का तो सेवन कर सकती हैं, लेकिन जिन दवाओं के सेवन की बात टेस्ट के नतीजों में सामने आई है वो परिजनों की समझ से बाहर है। उन्होंंने कहा कि पिछले 6 माह से नीरज लगातार कैंप में ही रह रही हैं और इस समयावधि में एक बार भी घर नहीं आयी।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All