दीपिका और अंकिता ने हासिल किया ओलंपिक कोटा

बैंकाक, 28 नवंबर (भाषा) दीपिका कुमारी ने यहां 21वीं एशियाई तीरंदाजी चैम्पियनशिप से इतर आयोजित महाद्वीपीय क्वालीफिकेशन टूर्नामेंट में महिला रिकर्व स्पर्धा में स्वर्ण और अंकिता भक्त ने रजत पदक जीतकर भारत के लिये ओलंपिक कोटा स्थान सुनिश्चित किया। इस महाद्वीपीय क्वालीफिकेशन से 3 व्यक्तिगत स्थान हासिल किये जा सकते थे और राष्ट्रीय महासंघ पर लगे निलंबन के कारण राष्ट्रीय ध्वज के बिना खेल रहे भारतीय तीरंदाजों ने शानदार प्रदर्शन किया। इनमें शीर्ष वरीय दीपिका और छठी वरीय अंकिता का प्रदर्शन लाजवाब रहा। दीपिका ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए मलेशिया की नूर अफीसा अब्दुल को 7-2, ईरान की जहरा नेमाती को 6-4 और स्थानीय तीरंदाज नरीसारा खुनहिरानचाइयो को 6-2 से मात देकर सेमीफाइनल में प्रवेश कर ओलंपिक कोटा हासिल किया। दीपिका ने कहा, ‘हम अपना सर्वश्रेष्ठ करना चाहते थे। लेकिन हम शुरू में थोड़े नर्वस थे। तेज हवा भी चल रही थी। मैंने अपनी सांस पर ध्यान लगाये रखा और खुद से कहा, लगी रहो। मैं अब अच्छा महसूस कर रही हूं।’ स्थानीय खिलाड़ी नारीसारा के खिलाफ अंतिम राउंड से पहले दीपिका ने अपने मंगेतर और टीम के साथी अतनु से 28 निशाना लगाने का वादा किया लेकिन दीपिका ने 2 परफेक्ट 10 और एक 9 जुटाकर जीत दर्ज की। उन्होंने कहा, ‘हम अपना सर्वश्रेष्ठ करना चाहते थे। साथ ही मैंने (मिश्रित टीम जोड़ीदार और मंगेतर) अतनु को वादा किया था कि मैं 28 अंक जुटाऊंगी।’ तीरंदाजी में ओलंपिक के लिये क्वालीफाई करने का अंतिम मौका 2020 विश्व कप के बर्लिन चरण है। बाद में दीपिका ने वियतनाम की एनगुएट डो थि एन को एकतरफा अंतिम चार मुकाबले में 6-2 से शिकस्त दी। अंकिता ने हांगकांग की लाम शुक चिंग एडा को 7-1, वियतनाम की एनगुएन थि फुयोंग को 6-0 और कजाखस्तान की अनास्तासिया बानोवा को 6-4 से मात दी। अंकिता ने अंतिम चार में भूटान की कर्मा को 6-2 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया। फाइनल में हालांकि अंकिता को दीपिका से 0-6 से हार मिली। भारतीय तीरंदाजी संघ पर प्रतिबंध के कारण दीपिका, अंकिता और लैशराम बोम्बायला देवी की भारतीय तिकड़ी तटस्थ (विश्व तीरंदाजी संघ) ध्वज के अंतर्गत प्रतियोगिता में हिस्सा लिया।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All