एशिया जीता, अब विश्व जीतने की तैयारी : ओल्टमैंस

सबी हुसैन/ट्रिन्यू नयी दिल्ली, 2 नवंबर

RIO DE JANEIRO  (Brazilië) -  India bondscoach coach Roelant Oltmans (India)   tijdens de poulewedstrijd hockey heren Germany v India (2-1) , tijdens de Olympische Spelen . links captain Sardar Singh (India) COPYRIGHT  KOEN SUYK

भारत के मुख्य हॉकी कोच रोलेंट ओल्टमैंस को खिलाड़ियों के लिए संतुष्ट करना आसान नहीं है। लेकिन दिवाली के मौके पर अपनी सुनियोजित और चतुर योजनाओं से एशियन चैंपियंस ट्रॉफी में मलेशिया में पाकिस्तान को हराकर का खिताब जीता, उसके बाद उनके नाम की चर्चा होना स्वाभाविक है। हॉकी इंडिया (एचआई) ने कोच ओल्टमैंस का करार बढ़ाने कै फैसला किया है। अब वह 2020 टोक्यो ओलंपिक तक अपने पद पर बने रहेंगे। ओल्टमैंस के मार्गदर्शन में भारतीय टीम ने शानदार प्रदर्शन किया है। इस उपलब्धि के ठीक बाद ही 62 वर्ष का यह डच हॉकी अनुभवी भारतीय टीम के लिए नये लक्ष्य निर्धारित कर चुका है। अब उसके निशाने पर वर्ष 2018 में होने वाला हॉकी विश्व कप और 2020 में होने वाले टोक्यो ओलंपिक हैं। 4 वर्ष का कार्यकाल विस्तार प्राप्त करने के बाद ओल्टमैंस ने कहा कि अब उनके पास भारतीय टीम के लिए अपनी विस्तार योजनाओं को लागू करने के लिए अधिक समय और स्वतंत्रता होगी। ओल्टमैंस ने कहा कि भारत के अनुभवी और युवा दोनों तरह के खिलाड़ी अंतर्राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धाओं में बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं और एशियन चैंपियंस ट्रॉफी की जीत इस क्रम में एक नया सोपान है। भारत लौटने के बाद दैनिक ट्रिब्यून से उन्होंने बातचीत की। पेश हैं उनसे बातीच के प्रमुख अंश।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

राजनेताओं की जवाबदेही का सवाल

राजनेताओं की जवाबदेही का सवाल

तेल से अर्जित रकम का कीजिए सदुपयोग

तेल से अर्जित रकम का कीजिए सदुपयोग

ताऊ और तीसरी धारा की राजनीति

ताऊ और तीसरी धारा की राजनीति

अभिमान से मुक्त होना ही सच्चा ज्ञान

अभिमान से मुक्त होना ही सच्चा ज्ञान

फलक पर स्थापित ‘थलाइवा’ को फाल्के

फलक पर स्थापित ‘थलाइवा’ को फाल्के