बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ मुद्दे पर सर्वखाप महापंचायत

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ मुद्दे पर सर्वखाप महापंचायत

भिवानी, 17 मई (हप्र)

प्रदेश में लगातार बढ़ते लिंगानुपात असंतुलन, इससे छिन्न-भिन्न होते जा रहे सामाजिक ताने-बाने से चिंतित प्रदेश की खापों, पंचायतों द्वारा इस समस्या से निपटने के लिए शुरू की गई मुहिम अब जोर पकड़ने लगी है। इसी कड़ी में रविवार को दादरी के लोहारू रोड स्थित राधा स्वामी सत्संग सभागार में भ्रूण हत्या के विरोध तथा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ मुद्दे को लेकर सर्वखाप महापंचायत का आयोजन किया गया। महापंचायत में उपस्थित हजारों लोगों ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का संकल्प लिया।महापंचायत में इस क्षेत्र व प्रदेश की प्रमुख खापों से जुड़े हजारों लोग शामिल हुए। महापंचायत के संयोजक सोमबीर सांगवान ने सभी को भ्रूण हत्या के खिलाफ मन, वचन, कर्म से अभियान चलाने, बेटियों के संरक्षण की शपथ दिलायी।महापंचायत में खापों के प्रतिनिधियों के अलावा प्रदेश के शिक्षा एवं परिवहन मंत्री रामबिलास शर्मा, भिवानी महेन्द्रगढ़ संसदीय क्षेत्र के भाजपा सांसद धर्मबीर सिंह, बाढड़ा के विधायक सुखविन्द्र मांढी, भिवानी के विधायक घनश्याम सर्राफ इत्यादि विशेष रूप से शरीक हुए।महापंचायत का संचालन गांव झोझू कलां के पूर्व सरपंच दलबीर सिंह गांधी ने किया। मंत्री रामबिलास शर्मा ने अपने संबोधन में कहा कि हरियाणा में सामाजिक सुधार, बदलाव में सदियों से खापों की विशेष भूमिका रही है।  खापों के प्रति यहां के जनमानस में अपार श्रद्धा, विश्वास रहा है।शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हरियाणा के पानीपत से बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान आरंभ किया है। हरियाणा में लिंगानुपात असंतुलन की समस्या काफी गंभीर बनी हुई है। यहां प्रति एक हजार लड़कों पर लड़कियों की संख्या 861 है। इसे बदलने के लिए खापों ने पंचायती तौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में जो अभियान शुरू किया है, वह निश्चय ही मील का पत्थर साबित होगा।उन्होंने दादरी क्षेत्र में इस मुद्दे पर सर्व खाप महापंचायत आयोजित करने पर इसके संयोजक सोमबीर सांगवान को बधाई दी।महापंचायत में सांसद धर्मबीर सिंह ने कहा कि बेटा-बेटी में भेद मिटाने के लिए हमें अपनी सोच बदलनी होगी। उन्होंने कहा कि पिछले वर्षों के सभी परीक्षा परिणामों, उच्च स्तरीय परीक्षाओं, खेलों व कुशलता के अन्य क्षेत्रों में यह साबित हो गया है कि लड़कियां सभी क्षेत्रों में लड़कों से आगे रही है। इसके बावजूद हम अपने परिवारों में बेटियों के प्रति उपेक्षित भाव रखते हैं। हमें वैचारिक रूप से बेटियों के प्रति विचारों में बदलाव लाना होगा।विधायक घनश्याम सर्राफ ने भ्रूण हत्या के कलंक को जड़ से मिटाने, बेटियों को पढ़ने, आगे बढ़ने के अवसर देने का आग्रह किया। विधायक सुखविन्द्र मांढी ने कहा कि केन्द्र व प्रदेश में नरेन्द्र मोदी व मनोहर लाल खट्टर की सरकार बनने के बाद बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ मुहिम को गति मिली है। इस अवसर पर हरियाणा जाट महासभा के प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश मान, सर्वजातीय खाप महिला प्रकोष्ठ की प्रधान सरोज बाला, राजबाला एडवोकेट, सुनीता डांगी, अनिता लुहाच, सुशीला फौगाट, राजरानी सांगवान इत्यादि ने भी अपने विचार रखें।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

मुख्य समाचार

हरियाणा के ढाबों में ताक पर नियम

हरियाणा के ढाबों में ताक पर नियम

एनजीटी में दायर स्टेटस रिपोर्ट में खुलासा, निर्देशों की खुले...