106 दिन बाद चिदंबरम जेल से बाहर

नयी दिल्ली, 4 दिसंबर (एजेंसी)

नयी दिल्ली में बुधवार रात तिहाड़ जेल से बाहर आने के बाद अपने समर्थकों का अभिवादन करते पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी. चिदंबरम। -प्रेट्र

पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को आईएनएक्स मीडिया मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सुप्रीमकोर्ट से जमानत मिलने के बाद बुधवार रात तिहाड़ जेल से रिहा कर दिया गया। जेल के बाहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया। चिदंबरम ने कहा कि 106 दिनों तक कैद में रखने के बावजूद मेरे खिलाफ एक भी आरोप तय नहीं किया गया। इससे पहले सुबह चिदंबरम को राहत देते हुए सुप्रीमकोर्ट ने उन्हें 2 लाख रुपये के निजी मुचलके और इतनी ही राशि की 2 जमानतों पर रिहा करने का अादेश दिया। इसके साथ ही अदालत ने उन्हें निर्देश दिया कि वह इस मामले में अपने या सह-आरोपी के संबंध में कोई प्रेस इंटरव्यू या सार्वजनिक बयान नहीं देंगे। निचली अदालत की अनुमति के बिना देश से बाहर नहीं जाएंगे, न तो गवाहों को प्रभावित करने का प्रयास करेंगे और न ही सबूतों से छेड़छाड़ करेंगे। इससे पहले दिल्ली हाईकोर्ट ने उन्हें इस मामले में जमानत देने से इनकार कर दिया था। कांग्रेस नेता 74 वर्षीय चिदंबरम को आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में सीबीआई ने 21 अगस्त को गिरफ्तार किया था। इस मामले में उन्हें शीर्ष अदालत ने 22 अक्तूबर को जमानत दे दी थी। इसी दौरान 16 अक्तूबर को ईडी ने आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले से संबंधित मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में उन्हें गिरफ्तार कर  लिया था। शीर्ष अदालत ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के इस दावे को स्वीकार नहीं किया कि वह साक्ष्यों के साथ छेड़छाड़ कर सकते हैं। अदालत ने कहा कि मौजूदा स्थिति में अपीलकर्ता न तो राजनीतिक ताकत है और न ही सरकार में किसी पद पर है, जिससे वह हस्तक्षेप करने की स्थिति में हो। इस स्थिति में पहली नजर में इस तरह के आरोप स्वीकार नहीं किये जा सकते। ईडी ने दलील दी थी कि एक गवाह चिदंबरम का सामना करने के लिए तैयार नहीं है, क्योंकि दोनों एक ही राज्य के हैं। इस पर अदालत ने कहा कि इसके लिए चिदंबरम को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता, ऐसी सामग्री सामने नहीं है जिससे यह संकेत मिलता हो कि उन्होंने या उनकी ओर से किसी ने गवाह को ‘रोका या धमकी दी' है। पीठ ने चिदंबरम को निर्देश दिया कि ईडी द्वारा इस मामले में बुलाये जाने पर वह पूछताछ के लिए उपलब्ध रहेंगे।

कांग्रेस ने कहा- सत्यमेव जयते कांग्रेस ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर कहा, ‘आखिरकार सच की जीत हुई। सत्यमेव जयते।' पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने चिदंबरम को जमानत मिलने का स्वागत किया और कहा कि लंबी प्रतीक्षा के बाद यह हुआ है। पार्टी के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने कहा, न्याय में देरी अन्याय है। यह काफी पहले ही मिलना चाहिए था।

कांग्रेस भ्रष्टाचार का उत्सव मना रही : भाजपा भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने ट्वीट किया, ‘कांग्रेस द्वारा भ्रष्टाचार का उत्सव मनाने का यह उदाहरण है। अंतत: चिदंबरम भी जमानत पर बाहर आने वालों के क्लब में शामिल हो गए। वे उस क्लब में शामिल हो गये हैं, जिसमें सोनिया गांधी, राहुल गांधी, राबर्ट वाड्रा, मोतीलाल वोरा, भूपेन्द्र हुड्डा और शशि थरूर आदि शामिल हैं।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All