फ्रांस के संग्रहालय में रखा गया हिमयुग का शिशु मैमथ

पेरिस, 17 जुलाई (एपी)। साइबेरिया के ठंडक भरे वातावरण से निकाले जाने के बाद एक शिशु मैमथ को दक्षिण-पूर्व फ्रांस के एक संग्रहालय में प्रदर्शन के लिए रखा गया है। इस शिशु मैमथ का नाम बेबी क्रोमा है। पुए एन वेले के म्यूजियम क्रोजेसियर में इस प्रदर्शन के लिए रखा गया है। लंबे समय से माना जा रहा था कि बेबी क्रोमा की मौत एंथ्रेक्स से हुई थी। लेकिन विशेष परीक्षणों से यह बात गलत साबित हुई थी। बेबी क्रोमा का कंकाल बिल्कुल सही-सलामत है। कल से इसे फ्रांस के संग्रहालय में प्रदर्शित किया गया। इसे रखने के लिए एक विशेष क्रायोजेनिक कक्ष बनाया गया है। यहां का तापमान शून्य से 18 डिग्री सेल्सियस नीचे है। एक फुट ऊंचा, पंाच फुट लंबा प्रागैतिहासिक काल का यह शिशु मैमथ अब तक खोजे गए सबसे पुराने शिशुओं में शुमार हो सकता है। फ्रांस के अनुसंधानकर्ताओं और जिनेवा स्थित इंटरनेशनल मैमथ समिति के परियोजना समन्वयक सर्जेई गोर्बुनोव ने कहा कि इसकी उम्र कितनी है , कार्बन डेटिंग विधि बताने में विफल रही। लगता है कि यह 50 हजार वर्ष से भी अधिक पुराना है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें