कुवैत में 'अप्रवासी कोटा बिल' पर मुहर, 8 लाख भारतीयों पर लटकी वापसी की तलवार

दुबई, 6 जुलाई (एजेंसियां) कुवैत से करीब 8 लाख भारतीयों के सिर पर वापसी की तलवार लटक गयी है। कुवैत की नेशनल असेंबली कमेटी ने 'अप्रवासी कोटा बिल' पर अपनी मुहर लगा दी है जिसके तहत कुवैत में रह रहे भारतीयों की संख्या को सिर्फ 15 फीसदी तक कर दिया जाएगा। कुवैती सरकार अपने देश में भारतीय समुदाय के लोगों की संख्या घटाने पर विचार कर रही है। कुवैत की कानूनी और विधायी समिति ने विदेशी कोटा बिल को मंजूरी दे दी है, जिसके तहत विदेशियों की संख्या सीमित करने का प्रस्ताव रखा गया है। बिल के अनुसार देश में भारतीयों की संख्या 15 फीसदी से अधिक नहीं होगी। कुवैत में इस वक्त करीब 14.5 लाख भारतीय समुदाय के लोग रहते हैं। कुवैत की कुल 43 लाख की जनसंख्या में से 30 लाख के करीब विदेशी ही हैं और इनमें सबसे बड़ी संख्या भारतीय नागरिकों की है। कुवैत में काफी वक्त से इस बिल को पेश करने पर विचार चल रहा था, लेकिन कोरोना संकट के कारण इसे टाल दिया गया था। अपने देश में ही अल्पसंख्यक स्थिति में पहुंचने और अपने नागरिकों को बेहतर रोजगार के अवसर देने के लिए कुवैत में ये कदम उठाया जा रहा है। एेसेा ही कोटा अन्य देशों के लोगों के लिये भी रखा गया है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें