ओपी चौटाला की रिहाई पर अदालत ने सुरक्षित रखा फैसला

नयी दिल्ली, 26 नवंबर (एजेंसी) शिक्षक भर्ती घोटाले में 10 साल जेल की सजा काट रहे हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला ने मंगलवार को दिल्ली हाईकोर्ट को बताया कि वे जेल में 7 साल गुजार चुके हैं, ऐसे में केंद्र की विशेष छूट नीति के तहत वे जल्द रिहाई के हकदार हैं। दिल्ली सरकार ने याचिका का विरोध करते हुए कहा कि 84 वर्षीय इनेलो प्रमुख राहत पाने के हकदार नहीं हैं, क्योंकि उन्हें भ्रष्टाचार रोकथाम कानून के तहत दोषी ठहराया गया और सरकारी अधिसूचना के प्रावधानों के मुताबिक ऐसे अभियुक्तों को विशेष छूट नहीं दी जा सकती। चौटाला और दिल्ली सरकार के वकीलों की दलीलें सुनने के बाद जस्टिस मनमोहन और जस्टिस संगीता धींगरा सहगल की पीठ ने याचिका पर अपना आदेश सुरक्षित रख लिया। वकील अमित साहनी के जरिए दाखिल याचिका में विशेष छूट के संबंध में केंद्र सरकार की 18 जुलाई 2018 की अधिसूचना का हवाला दिया गया है। चौटाला ने अपनी याचिका में दावा किया उनकी उम्र को देखते हुए उन्हें जेल से छोड़े जाने पर विचार होना चाहिए।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें