एनआईए करेगी जांच, कश्मीर भेजी गयी टीम

सुरेश एस डुग्गर जम्मू, 15 जनवरी आतंकवादियों के साथ डीएसपी दविंदर सिंह की गिरफ्तारी मामले की जांच अब राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) करेगी। एनआईए के महानिदेशक वाईसी मोदी ने बृधवार को दिल्ली में केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला से मुलाकात की। इसके बाद आईजी स्तर के अधिकारी के नेतृत्व में एनआईए की एक टीम कश्मीर भेजी गयी है। इस बीच, सुरक्षा एजेंसियों ने निलंबित डीएसपी दविंदर सिंह के बैंक खातों और अन्य संपत्तियों की जांच भी की। उसकी संपत्तियों का पूरा ब्योरा जुटाया जा रहा है। आईबी, रॉ और मिलिट्री इंटेलिजेंस (एमआई) दविंदर से पूछताछ कर आतंकियों के साथ उसके कनेक्शन की छानबीन में जुटी हुई हैं। दविंदर से पुलवामा जिला पुलिसलाइन पर हुए आतंकी हमले से लेकर बीते 2 सालों के दौरान पुलवामा जिले में हुए विभिन्न हमलों के बारे में भी पूछा जा रहा है। सूत्रों के अनुसार पूछताछ में पता चला कि पिछले साल भी डीएसपी ने आतंकी नवीद को जम्मू पहुंचाया था। यहां ठहरने और इलाज के बाद उसे शोपियां तक सुरक्षित पहुंचाया था। माना जा रहा है कि वह इस बार नवीद को चंडीगढ़ ले जा रहा था। सूत्रों के मुताबिक दविंदर के साथ पकड़े गये आतंकी नवीद ने पूछताछ में बताया है कि ज्यादातर आतंकी पुलिस से बचने के लिए सर्दी के दौरान कश्मीर से बाहर का रुख कर लेते हैं, जबकि गर्मी में वह जंगलों में ही रहते हैं। इससे उन्हें आराम करने और नेटवर्क तैयार करने का मौका भी मिलता है। पूछताछ में पता चला है कि आतंकी नवीद का एक भाई चंडीगढ़ में पढ़ रहा है। उसके मां-बाप बीते कुछ दिनों से दिल्ली में हैं। समझा जा रहा है कि नवीद चंडीगढ़ में कुछ दिन रुकने के बाद दिल्ली जाने वाला था। एक अधिकारी के अनुसार दविंदर कहता है कि वह आतंकियों का साथ नहीं देना चाहता था। वह उन्हें सरेंडर कराना चाहता था, लेकिन पता नहीं वह कैसे उनका साथ देने लगा। वह कह रहा है कि वह किसी आतंकी हमले की साजिश में शामिल नहीं था, उसने सिर्फ एक-दो बार ही आतंकियों की मदद की है और वह भी उन्हें कश्मीर से बाहर ले जाने में।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All