आईआईटी दिल्ली ने बनाया ऊर्जा भंडारण उपकरण

नई दिल्ली, 31 दिसंबर (एजेंसी) भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी), दिल्ली के शोधकर्ताओं ने छोटे और मध्यम स्तर के ऊर्जा भंडारण उपकरण तैयार किए हैं। आईआईटी दिल्ली के एक दल के अनुसार इस समय उपलब्ध ऊर्जा भंडारण के विभिन्न विकल्पों के साथ भौगोलिक स्थितियों और जरूरत के हिसाब से फायदे और नुकसान जुड़े हुए हैं। आईआईटी दिल्ली में रसायन इंजीनियरिंग विभाग के अनिल वर्मा ने कहा, 'इस समय उपलब्ध भंडारण विकल्पों में एक विकल्प, जिसमें उल्लेखनीय क्षमता दिख रही है, वह है वैनेडियम रिडॉक्स फ्लो बैटरी (वीआरएफबी)। इसमें स्वतंत्र शक्ति और ऊर्जा क्षमता समायोजकता की कुछ अनूठी विशेषताएं हैं।' उन्होंने बताया कि इसमें तरल इलेक्ट्रोलाइट को बदलना आसान है। उन्होंने बताया, 'ऐसा माना जा रहा है कि भारतीय परिदृश्य में वीआरएफबी नवीकरणीय ऊर्जा भंडारण के लिए एक सक्षम उपकरण है जहां दूरदराज तक बिखरी एक बड़ी आबादी को सेवा देने की जरूरत है, वहां छोटे और मध्यम आकार के ऊर्जा भंडारण और उपयोग बेहद महत्वपूर्ण हैं।' परियोजना के तहत बैटरी पैक का डिजाइन तैयार किया जाएगा जो भारतीय अक्षय ऊर्जा विकास एजेंसी (इरडा) द्वारा दी गई घरेलू प्रकाश प्रणाली की आवश्यकता के अनुरूप होगा।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

राजनेताओं की जवाबदेही का सवाल

राजनेताओं की जवाबदेही का सवाल

तेल से अर्जित रकम का कीजिए सदुपयोग

तेल से अर्जित रकम का कीजिए सदुपयोग

ताऊ और तीसरी धारा की राजनीति

ताऊ और तीसरी धारा की राजनीति

अभिमान से मुक्त होना ही सच्चा ज्ञान

अभिमान से मुक्त होना ही सच्चा ज्ञान

फलक पर स्थापित ‘थलाइवा’ को फाल्के

फलक पर स्थापित ‘थलाइवा’ को फाल्के