हिसार में पहले ही दिन प्रशासन फेल

हिसार में लॉकडाउन के पहले दिन सब्जी मंडी में लगी भीड़।

हिसार (हप्र): हिसार में मंगलवार को लॉकडाउन के पहले ही दिन जिला प्रशासन विशेषकर खाद्य एवं आपूर्ति विभाग द्वारा किए गए प्रबंध फेल हो गए। जब प्रबंधों की रियलिटी चैक की तो ऐसा लगा मानो प्रशासन सोशल डिस्टेंसिंग की बजाय राशन की दुकानों पर लाइनें लगाने की योजना बना रहा है। दरअसल जिला प्रशासन ने लॉकडाउन के मद्देनजर सोमवार को फल-सब्जियों, राशन, दूध की होम डिलीवरी के लिए कुछ निजी ऑपरेटर के नंबर जारी किए और आम लोगों से अपील की कि वे इन कार्यों के लिए घर से बाहर ना निकलें। इस पर जब मंगलवार को प्रशासन द्वारा दिए गए कैंप चौक स्थित एक किराना की दुकान से संपर्क किया और कुछ ऑर्डर दिया। ऑर्डर लेने के लिए दुकानदार ने कहा कि उनके पास काफी भीड़ है, कृपया व्हाट्सअप पर लिस्ट भेज दो। इसके बाद जब बताए गए नंबर पर लिस्ट भेजी तो मैसेज आया कि सामान पैक हो गया है, आप ले जाओ। जब उनको होम डिलीवरी के लिए कहा तो उन्होंने कहा कि होम डिलीवरी उपलब्ध नहीं है। दूसरी तरफ प्रशासन द्वारा बताई गई दुकानों के अलावा शहर के विभिन्न मोहल्लों में खुली किराना की दुकानों को पुलिस कर्मचारियों ने जबर्दस्ती बंद करवा दिया। किराना दुकानदार शुभम ने बताया कि उनकी व आसपास की दो-तीन दुकानों को पुलिस कर्मचारियों ने सुबह ही बंद करवा दिया। हालांकि संवाददाता ने जब प्रशासन को अवगत करवाया तो थोड़ी देर बाद किराना की दुकानों को खोलने की अनुमति दे दी गई। पुलिस का सहयोग नहीं मिला: डीएफएससी मामले की स्थिति से अवगत करवाने के लिए जब डीएफएससी सुभाष सिहाग से संपर्क किया गया तो पहले तो उन्होंने फोन ही नहीं उठाया और बार-बार शिकायतों के बारे में बताकर संदेश दिया तो करीब आधे घंटे बाद उन्होंने संपर्क किया और बताया कि होम डिलीवरी के वाहनों को पुलिस ने स्वीकृति नहीं दी है जिसके कारण होम डिलीवरी की व्यवस्था नहीं हो पाई है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश