सोनीपत में धुंध, विजिबिलिटी 50 मीटर

सोनीपत, 15 नवंबर (हप्र) धान की पराली जलाने वाले किसानों के खिलाफ कृषि विभाग ने सख्त कदम उठाने शुरू कर दिए है। विभाग ने अब तक 11 किसानों पर 22 हजार 500 रुपए का जुर्माना लगाया है। सैटेलाइट से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार पराली जलाने के 17 मामले सामने आ चुके हैं। दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में वायू प्रदूषण खतरनाक स्तर तक पहुंच गया था। इसकी एक वजह पराली जलाने से पैदा होने वाले धुएं को भी माना जा रहा है। पहाड़ी राज्यों में हुई ताजा बर्फबारी और राजस्थान में हुई तेज बरसात की वजह से दिल्ली-एनसीआर में तापमान में भी गिरावट आ गई है। शुक्रवार को सुबह धुंध भी छाई रही। इसके चलते विजिबिलिटी 50 मीटर के दायरे में रही। उधर, शुक्रवार को भी जिले के अधिकतर स्कूल बंद रहे। प्रशासन ने बच्चों को मैदानों में न खेलने की सलाह भी दी है। वायु गुणवत्ता का स्तर 204 शुक्रवार को सोनीपत शहर में वायु गुणवत्ता का स्तर एक बार फिर से 200 के पार पहुंच गया। गीता भवन चौक, ककरोई चौक पर जाम जैसी स्थिति बने रहने की वजह से दिन भर क्षेत्र में प्रदूषण का स्तर अधिक रहा। अधिकारी बोले कृषि उपनिदेशक अनिल सहरावत का कहना है कि पराली जलाकर प्रदूषण फैलाने वाले किसानों पर पैनी नजर रखी जा रही है। अब तक 11 किसानों पर जुर्माना लगाया जा चुका है। अगले तीन से चार दिन संवेदनशील है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

पाक सेना के तीर से अधीर हामिद मीर

पाक सेना के तीर से अधीर हामिद मीर

नीति-निर्धारण के केंद्र में लाएं गांव

नीति-निर्धारण के केंद्र में लाएं गांव

असहमति लोकतांत्रिक व्यवस्था का हिस्सा

असहमति लोकतांत्रिक व्यवस्था का हिस्सा

बदलोगे नज़रिया तो बदल जाएगा नज़ारा

बदलोगे नज़रिया तो बदल जाएगा नज़ारा

मुख्य समाचार

गांवों में दी गयी 64% खुराकें

गांवों में दी गयी 64% खुराकें

कोरोना 21 जून की ‘ऐतिहासिक उपलब्धि’/ 89.09 लाख टीके लगे

केंद्र की सर्वदलीय बैठक में शामिल होंगे गुपकार नेता

केंद्र की सर्वदलीय बैठक में शामिल होंगे गुपकार नेता

पीएजीडी की बैठक के बाद फारूक की घोषणा

सरकार के कोविड प्रबंधन पर कांग्रेस का ‘श्वेत पत्र’

सरकार के कोविड प्रबंधन पर कांग्रेस का ‘श्वेत पत्र’

केंद्र सरकार की ‘गलतियों और कुप्रबंधन’ का उल्लेख

पवार के घर जुटे विपक्षी नेता

पवार के घर जुटे विपक्षी नेता

टीएमसी, सपा, आप और रालोद सहित कई पार्टियां शामिल