सरकार ने बदले 4 ग्राम पंचायतों के खंड

चंडीगढ़, 4 दिसंबर (ट्रिन्यू) हरियाणा सरकार ने 4 ग्राम पंचायतों के खंड बदले हैं। इन गांवों के लोगों की मांग पर यह फैसला लिया गया है। रेवाड़ी की ग्राम पंचायत बालावास को खंड जाटूसाना से खंड रेवाड़ी में, सिरसा की ग्राम पंचायत धिंगतानिया को खंड नाथूसरी चौपटा से खंड सिरसा में, महेन्द्रगढ़ की ग्राम पंचायत सुरजावास, खेड़ा व मेघनवास को खंड कनीना से खंड महेन्द्रगढ़ में और झज्जर की ग्राम पंचायत दादरी तोए को खंड झज्जर से खंड बादली में शामिल करने का निर्णय लिया है। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इस आशय के विकास एवं पंचायत विभाग के एक प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान कर दी है। उन्होंने बताया कि उपायुक्त, महेन्द्रगढ़ स्थित नारनौल ने ग्राम पंचायत बालावास द्वारा खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी, जाटूसाना के माध्यम से भेजे प्रस्ताव का उल्लेख करते हुए कहा है कि यह ग्राम पंचायत जाटूसाना खंड में है परन्तु इसका विधानसभा क्षेत्र रेवाड़ी तथा संसदीय क्षेत्र गुरुग्राम है। इससे गांव के विकास कार्यों में परेशानी होती है। दूरी अधिक होने से होती थी परेशानी सिरसा की ग्राम पंचायत धिंगतानिया ने अपने प्रस्ताव में कहा है कि यह ग्राम पंचायत नाथूसरी चौपटा से 15 किलोमीटर दूर है जबकि सिरसा से यह 7 किलोमीटर की दूरी पर है। इसका खंड कार्यालय तथा खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय भी नाथूसरी चौपटा है। ग्राम पंचायत ने खंड कार्यालय तथा खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय, दोनों को सिरसा बनाने की मांग की। जिला महेन्द्रगढ़ (नारनौल) के सुरजनवास, खेड़ा और मेघनवास की ग्राम पंचायतों ने उन्हें ग्राम पंचायत खंड कनीना से निकालकर महेन्द्रगढ़ में जोड़ने की मांग करते हुए कहा है ये ग्राम पंचायतें महेन्द्रगढ़ विधान सभा क्षेत्र के अधीन आती हैं जबकि कनीना खंड अटेली विधान सभा क्षेत्र में पड़ता है। इन तीनों गांवों का ब्लॉक कनीना लगता है जो इन तीनों गांवों से लगभग 21 किलोमीटर की दूरी पर है। महेन्द्रगढ़ खंड इन तीनों गांवों से लगभग 2 किलोमीटर की दूरी पर है। जिला झज्जर की ग्राम पंचायत दादरी तोए ने भी खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी, झज्जर के माध्यम से भेजे एक प्रस्ताव में कहा है कि उनकी ग्राम पंचायत तहसील बादली में पड़ती है, जबकि इसका खंड झज्जर है। इसलिए इसे खंड झज्जर से निकालकर खंड बादली में शामिल किया जाए।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें