समाधि स्थल के बीच नेशनल हाईवे के निशान से ग्रामीणों में रोष

कैथल, 4 दिसंबर (हप्र)

कैथल के चंदलाना में बनी ऋषि-मुनियों की समाधि। -हप्र

152-डी नेशनल हाईवे कंपनी द्वारा हाईवे निर्माण को लेकर ऋषि-मुनियों के समाधि स्थल के बीच निशान दर्शाने से ग्रामीणों में भारी रोष है। चंदलाना में लोगों ने बताया कि 152-डी नेशनल हाइवे के लिए भूमि अधिग्रहण करते समय तो निशान आश्रम से कुछ दूरी पर दिखाए गए थे लेकिन अब निर्माण शुरू होने पर आश्रम में बनी प्राचीन ऋषि-मुनियों की समाधि के बीच में दिखाए जा रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है की ऋषि-मुनियों की समाधि को न तोड़ा जाए, किनारे से ही नेशनल हाईवे का निर्माण कराया जाए। लोगों ने बताया कि 152-डी नेशनल हाईवे निर्माण कंपनी ने डेरा डिंगाली कौल-चंदलाना की सीमा पर स्थित प्राचीन मंदिर के बीच में निर्माण करने के लिए निशान दर्शाए हैं। ऐसे में आस-पास के लोगों की धार्मिक भावना को ठेस पहुंची है। लोगों में नेशनल हाईवे कंपनी व जिला प्रशासन के प्रति रोष बढ़ रहा है। ग्रामीणों ने मांग की है कि ऋषि-मुनियों के समाधि स्थल से किनारा करके 152-डी नेशनल हाईवे का निर्माण कराया जाए। कौल व चंदलाना के समीप प्राचीनकाल से ही संतों की समाधि, शिव मंदिर व एक कुंडी तालाब है जिन्हें डिंगाली आश्रम के नाम से जाना जाता है। आश्रम की दशा आज भी महाभारत काल के समय की पहचान दर्शा रही है इस स्थान पर पुराने समय से ही श्रद्धापूर्वक माथा टेकने से लोगों के दुख दर्द दूर होते रहे हैं।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें