मुठभेड़ के बाद एसटीएफ ने दबोचा 4 राज्यों का मोस्ट वांटेड

सोनीपत, 25 जून (हप्र) सोनीपत एसटीएफ की टीम ने खरखौदा पीपली मार्ग से मुठभेड़ के बाद 2 लाख के ईनामी कुख्यात बदमाश नितेश उर्फ धांदू समेत 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पांचों बदमाश नीटू डाबोदिया गैंग से जुड़े है। नीटू की हत्या के बाद गैंग को अशोक प्रधान चला रहा है। मौके से गिरोह का सरगना अशोक प्रधान व उसके 2 अन्य साथी फारच्यूनर गाड़ी में निकल भागे। खास बात यह है कि गांव सिसाना निवासी नितेश उर्फ धांदू की गिरफ्तारी पर हरियाणा, यूपी, दिल्ली व मध्यप्रदेश की पुलिस ने 2 लाख रुपये के ईनाम की घोषणा कर रखी थी। पुलिस ने आरोपियों को अदालत में पेश कर रिमांड पर लिया है। डीएसपी राहुल देव ने पत्रकारों से बातचीत में बताया कि एसटीएफ सोनीपत प्रभारी सतीश देशवाल को जानकारी मिली थी कि कुख्यात बदमाश झज्जर के गांव निलोठी का रहने वाला अशोक प्रधान साथियों के साथ खरखौदा क्षेत्र में आने वाला है। वह खरखौदा में नीरज बवाना गैंग के विशाल मान की हत्या की फिराक में है। इस पर टीमों का गठन किया गया। जब टीम गांव पीपली से खरखौदा की तरफ जा रही थी, तो एक फारच्यूनर व 2 बाइक खड़ी मिली। टीम को देखकर बदमाशों ने गोली चला दी। एक गोली इंस्पेक्टर सतीश के हाथ के पास से निकल गई। हमले में टीम बाल-बाल बची। बदमाश गाड़ी व बाइक पर भाग लिए। पुलिस ने उनका पीछा शुरू कर दिया।

दर्जनों वारदातों का खुलासा पुलिस ने मुठभेड के बाद गांव सिसाना निवासी नितेश उर्फ धांदू, ओमबीर उर्फ आचार्य, योगेश व विकास उर्फ लंबू तथा मूलरूप से बहादुरगढ़ के गांव खरमाण फिलहाल रुड़की निवासी नवीन उर्फ मोहित उर्फ सुंडू को गिरफ्तार किया। इनकी गिरफ्तारी से दर्जनों वारदातों का भी खुलासा हुआ है। वहीं, गिरोह का सरगना निलोठी निवासी अशोक उर्फ प्रधान, दिल्ली के समसपुर खालसा का रहने वाला सनम डागर व मटिंडू का रहने वाला अरुण बाबा फारच्यूनर में भाग निकले। नितेश की गिरफ्तारी पर हरियाणा पुलिस ने 50 हजार, यूपी में 25 हजार, दिल्ली पुलिस ने 75 हजार तथा मध्यप्रदेश ने 50 हजार रुपये का ईनाम घोषित कर रखा था।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All