बैलगाड़ी पर सवार होकर किसानों का प्रदर्शन

कैथल में मंगलवार को बैलगाड़ी पर सवार होकर सरकार के खिलाफ रोष प्रदर्शन करते भाकियू सदस्य। -हप्र

कैथल, 30 जून (हप्र) भारतीय किसान यूनियन ने मंगलवार को विभिन्न मांगों को लेकर लघु सचिवालय में एक बैठक की। बैठक के बाद रोष स्वरूप किसानों ने प्रदर्शन कर प्रधानमंत्री के नाम एक ज्ञापन तहसीलदार को सौंपा। मंगलवार किसान लघु सचिवालय पर बैलगाड़ी पर आए और हल्ला बोल आंदोलन की शुरूआत की। किसानों ने नरेन्द्र मोदी, किसान विरोधी के नारे लगाते हुए सचिवालय में जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी किसानों ने सरकार द्वारा बढ़ाये पेट्रोल डीजल के रेटों का विरोध किया। उन्होंने कहा कि देश का किसान नकदी के भारी संकट से गुजर रहा है, जिसका असर खरीफ की बुआई पर पड़ रहा है। भारतीय किसान यूनियन प्रदेश कोषाध्यक्ष सतपाल दिल्लोवाली, उपाध्यक्ष सुखपाल, महासचिव बनी सिंह ने कहा कि कोविड-19 के चलते लॉकडाउन के कारण किसानों को भारी नुकसान हुआ है जिसकी भरपाई के लिए सरकार द्वारा कोई भी सीधी सहायता किसानों को नहीं मिली। इस मौके पर सतपाल दिल्लोवाली प्रदेश कोषाध्यक्ष, भूरा राम पबनाना, सुखपाल, बनी सिंह, बलतंत, बलवान पार्ठ, ओम प्रकाश करोड़ा, ओम प्रकाश ढांडा, करताराम सहित सैकड़ों किसान नेता मौजूद रहे। सड़क पर उतरे किसान इन्द्री (निस) : डीजल के दामों में बेतहाशा वृद्धि को लेकर भारतीय किसान यूनियन की अगुवाई में किसान सड़क पर उतर गए। शहर भर में किसानों ने रोष प्रदर्शन करते हुए सरकार के विरुद्ध जोरदार नारेबाजी। इसके बाद एसडीएम कार्यालय में पहुंचकर एसडीएम सुमित सिहाग को अपनी मांगों का ज्ञापन सौंपा। प्रदर्शन की अगुवाई भाकियू के खंड प्रधान सतीश कलसौरा ने की।

डीआरओ को सौंपा प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन पानीपत (एस) : केंद्र सरकार द्वारा एक्साइज ड‌्यूटी बढ़ाकर डीजल के रेट बढ़ाने के विरोध में और किसानों की अन्य मांगों को लेकर भाकियू की बैठक मंगलवार को किसान भवन में जिला प्रधान कुलदीप बलाना की अध्यक्षता में हुई। इसके उपरांत भाकियू सदस्य रोष प्रदर्शन करते हुए लघु सचिवालय पहुंचे और वहां पर किसानों की मांगों को लेकर डीआरओ को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। इस अवसर पर जिला प्रोग्रामर जयपाल कुराना, तेजपाल ऊझा, भीम सिंह राठी, जयकरण कादियान, बिंटू मलिक, सुरत सिंह महावटी, बलबीर कवि सहित कई अन्य मौजूद रहे। वामपंथी पार्टियों ने निकाला जुलूस : वामपंथी पार्टियों के संयुक्त आह्वान पर सीपीएम व सीपीआई ने मंगलवार को पानीपत शहर में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में रोष प्रदर्शन किया और जीटी रोड पर पुल के नीचे भाजपा नेतृत्व वाली केंद्र सरकार का पुतला फूंका। उसके उपरांत वामपंथी पार्टियों के प्रतिनिधिमंडल ने जिला उपायुक्त के माध्यम से लिखित मांग पत्र प्रधानमंत्री के नाम सौंपा गया।

यमुनानगर में मंगलवार को प्रदर्शन करते भाकियू के सदस्य। -हप्र

मांगों को लेकर किया प्रदर्शन यमुनानगर (हप्र) : भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रदीप नगला व जिला अध्यक्ष सुभाष गुर्जर के नेतृत्व में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम उपायुक्त यमुनानगर को ज्ञापन सौंपा। किसान सोशल डिस्टेंस को देखते हुए जगाधरी मंडी गेट पर इकट्ठे होकर नारेबाजी करते हुए उपायुक्त कार्यालय पर पहुंचे। पत्रकारों से बातचीत करते हुए प्रदीप नगला ने बताया कि किसानों की समस्याओं को लेकर 26 जून को भारतीय किसान यूनियन की राष्ट्रीय स्तरीय किसान पंचायत का आयोजन भाकियू मुख्यालय किसान भवन सिसौली में राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत की अगुवाई में ‘हल्ला बोल’ आंदोलन की घोषणा की गई। इस मौके पर प्रदीप नगला प्रदेश उपाध्यक्ष, जयपाल चमरोडी जिला उपाध्यक्ष, सुभाष दहिया जिला प्रवक्ता, मोहनलाल मुंडाखेड़ा प्रधान छछरौली, बाजिद्र सिंह राणा गोलनी प्रधान सरस्वती नगर सहित कई गणमान्य मौजूद थे।

वामपंथियों ने राष्ट्रपति के नाम भेजा ज्ञापन वामपंथी दलों द्वारा आज पूरे देश में पेट्रोलियम पदार्थों की वृद्धि के खिलाफ प्रदर्शन करके राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजे गए। यमुनानगर में भी सीपीआई एवं सीपीएम द्वारा प्रदर्शन करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंका गया और सरकार विरोधी नारे लगाए गए।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश