पबनावा माइनर में गंदगी के अंबार, किसान परेशान

कैथल, 4 दिसंबर (हप्र) ढांड से गुजरने वाली पबनावा माइनर सिंचाई विभाग की घोर लापरवाही के कारण अपनी बदहाली पर आंसू बहाने को मजबूर है। माइनर के अंदर व उसके चारों तरफ गंदगी के ढेर इतने ज्यादा लगे हुए हैं कि वहां सड़क के नजदीक से गुजरना भी मुश्किल है। किसानों का आरोप है कि तमाम शिकायतों के बाद भी संबंधित विभाग इस तरफ ध्यान नहीं दे रहा। लोगों ने कहा कि सरकार की तरफ से माइनरों में समय-समय पर सफाई करने का ढिंढोरा पीटा जाता है और करोड़ों रुपए इसकी सफाई में भी लगाए जाते हैं, लेकिन सच्चाई इससे कोसों दूर है। पबनावा माइनर में सफाई के नाम पर महज खानापूर्ति होती है। माइनर से गंदगी निकालकर पास ही डाल दी जाती है जिसे दोबारा उठाने की जहमत नहीं उठाई जाती है। यह गंदगी चंद दिनों बाद वापस माइनर में चली जाती है। किसानों व लोगों का कहना है कि इस माइनर से लोगों को फायदा नाममात्र ही होता है क्योंकि इस माइनर में समय पर पानी नहीं आता है। अगर पीछे से कुछ पानी आता है भी है तो माइनर की ठीक ढंग से सफाई व मरम्म्मत न होने के कारण थोड़ा बहुत ही खेतों तक पहुंच पाता है, जिसका किसानों को कोई ज्यादा फायदा नजर नहीं आता।

जगह-जगह जमी काई माइनर की इतनी बुरी हालत है कि सफाई न होने के कारण माइनर में जगह-जगह काई जमा हो गई है जिससे उसमें अनेक जहरीले कीड़े-मकौड़े पैदा हो गए हैं। किसानों से प्रदेश सरकार व संबंधित विभाग से मांग की है कि माइनर की साफ-सफाई करवाई जाए।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें