निर्माणाधीन नहर टूटी, कई एकड़ फसल डूबी

चरखी दादरी, 25 मार्च (निस)

चरखी दादरी के गांव मेहड़ा के पास बुधवार को निर्माणाधीन नहर टूटने से खेतों में जाता पानी। -निस

गांव मेहड़ा के समीप नहर का निर्माण पूरा होने से पहले ही पानी छोड़ दिया गया। अब नहर टूट गई और आसपास की कई एकड़ फसल पानी में डूब गई। किसानों ने विशेष गिरदावरी करवाकर उचित मुआवजा की मांग की है। बता दें कि सिंचाई विभाग गांव मेहड़ा व आसपास के गांवों के लिए नहर का निर्माण करवाया रहा है। निर्माण कार्य अधूरा था और अधिकांश क्षेत्र में कच्ची नहर थी। मंगलवार देर रात निर्माणाधीन नहर में पानी छोड़ दिया गया। जिसके कारण नहर टूट गई और आसपास के क्षेत्र में सब्जी, गेहूं व सरसों की पकी हुई फसल पानी में डूब गई। सुबह ग्रामीणों ने नहर टूटने की जानकारी सिंचाई विभाग को दी। किसानों ने बताया कि नहर टूटने की जानकारी सिंचाई विभाग को दी है। फिलहाल नहर पाटने का कार्य शुरू नहीं हो पाया है।

लॉक डाउन से किसानों की हालत खराब हिसार (हप्र) : बेमौसमी भारी बारिश से जलभराव, ओलावृष्टि व तेज अंधड़ से फसलों के भारी नुकसान से अभी किसान जूझ रहा था, अब लॉकडाउन ने दूध उत्पादक, सब्जी उत्पादक, दिहाड़ीदार मजदूर, दुकानदार, रेहड़ी खोमचे वाले व किसानों पर असर डाला है। किसान सभा के महासचिव व पूर्व विधायक हरपाल सिंह ने मांग की है कि सरकार लोगों को तुरंत राहत दे। प्रभावित किसानों को 30 हजार रुपये प्रति एकड़ की राहत प्रदान की जाये। फसलें पक कर तैयार हैं। किसान सभा ने मांग की है कि सरकार फसलों, सब्जियों, दूध व डेयरी उत्पाद किसानों के घरों से सरकारी भाव में खरीद सुनिश्चित करे। रोजाना कमाकर खाने वाले मजदूरों, रेहड़ी खोमचे वालों, फड़ी वालों, दुकानदारों व जरुरतमंद लोगों को तुरंत पांच हजार रुपए प्रति परिवार व राशन दिया जाए।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

मुख्य समाचार

मरीजों की संख्या 23 लाख के पार

मरीजों की संख्या 23 लाख के पार

कोरोना 24 घंटे में 834 की मौत। रिकॉर्ड 56,110 हुए ठीक

प्रदेश में 12वीं के छात्रों को बांटे स्मार्टफोन

प्रदेश में 12वीं के छात्रों को बांटे स्मार्टफोन

अमरेंद्र सरकार की बहुप्र​तीक्षित स्मार्टफोन योजना शुरू

शहर

View All